मध्यप्रदेश का यह शहर बारिश में झेल रहा पेयजल संकट

मध्यप्रदेश का यह शहर बारिश में झेल रहा पेयजल संकट

Sachin Trivedi | Publish: Aug, 20 2018 01:22:29 PM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

मध्यप्रदेश का यह शहर बारिश में झेल रहा पेयजल संकट

रतलाम. पर्याप्त बारिश के बाद शहर के पेयजल स्त्रोत धोलावाड़ में जल संग्रहण की मात्रा लगातार बढ़ रही है, लेकिन शहर को मिलने वाली पानी की मात्रा में कमी के कारण कई इलाकों में पेयजल की किल्लत के हालात खड़े हो रहे है। रविवार को हाट रोड सहित राजेन्द्र नगर और अन्य इलाकों में पेयजल का वितरण शेड्यूल अनुसार नहीं हुआ। एक दिन पहले भी स्टेशन रोड और टीआइटी रोड पर रात को पानी दिया गया।

शहर में नगर निगम की पेयजल वितरण व्यवस्था बारिश के दौरान परेशानी बनती जा रही है। दरअसल, बारिश के जल जमाव के बीच पाइप लाइन का क्षतिग्रस्त होना और बिजली बंद होने का असर पेयजल वितरण के शेड्यूल पर फिर से होने लगा है। धोलावाड़ में पर्याप्त जल संग्रहण के बाद शहर को भेजे जाने वाली पानी की पाइप लाइन भी जगह जगह से क्षतिग्रस्त हो रही है। इससे पानी का दबाव कम बन रहा है। धोलावाड़ और मोरवानी मेें बिजली फाल्ट होने की स्थिति बनते ही वितरण बाधित हो रहा है। बीते दो दिनों से शहर में पेयजल की आपूर्ति समय पर नहीं हो पा रही है। शनिवार को सुबह के समय दिया जाने वाला पेयजल रात 9 से 11 बजे के बीच दिया। निगम मुनादी कराने की औपचारिकता पूरी की, लेकिन लोग देर तक इंतजार करते रहे।

दूसरे दिन भी समय पर नहीं बंटा पानी
रविवार को भी हाट रोड, राजेन्द्र नगर सहित गौशाला टंकी के कुछ इलाकों में समय पर पेयजल नहीं बांटा गया। दोपहर में वितरण की संभावना थी, लेकिन नलों में पानी नहीं आया। निगम के अधिकारियों की माने तो टंकी भरने में वक्त लगने के कारण पेयजल वितरण में देरी हो रही है। सोमवार से शेष इलाकों में शेड्यूल अनुसार ही वितरण होगा।

नलों से आने लगा मटमैला पानी
बारिश के जल जमाव के कारण निगम की पाइप लाइन वाले इलाकों में मटमैला पानी आने की शिकायत भी बढ़ रही है। कई इलाकों में सप्लाई के शुरूआती 10 से 15 मिनट तक मटमैला पानी आ रहा है। जल प्रदाय विभाग की माने तो निगम की पाइप लाइन से घरेलू लाइन लेने के दौरान ध्यान नहीं रखा जा रहा है। कई स्थानों पर लोगों की निजी लाइन गड्ढों और गंदे पानी वाले इलाकों में है, इससे नल में मटमैला पानी आ जाता है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned