चीख-पुकार से गूंजा अस्पताल, कहीं लाश तो कहीं घायल पड़े

चीख-पुकार से गूंजा अस्पताल, कहीं लाश तो कहीं घायल पड़े

Sachin Trivedi | Publish: Apr, 29 2018 02:29:29 PM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

चीख-पुकार से गूंजा अस्पताल, कहीं लाश तो कहीं घायल पड़े, मंदसौर के पास बस दुर्घटना में मृतकों को प्रशासन ने जारी की सहायता राशि

रतलाम/मंदसौर। मंदसौर के श्यामगढ़ के पास एक बस पलटने के बाद श्यामढ़ और मंदसौर के अस्पताल चीख-पुकार और अपनों को तलाशने की आवाजों से गूंज रहे है। दुर्घटना में प्रशासन ने प्रारंभिक तौर पर 7 लोगों के मरने की पुष्टि कर दी है, जबकि दो से ज्यादा गंभीर घायलों पर संशय बना हुआ है। वहीं, गंभीर घायलों की संख्या १५ से ज्यादा हो गई है। 25 लोगों को सामान्य घायल बताया जा रहा है। प्रशासन ने शुरूआती स्तर पर मृतकों सहित गंभीर घायलों और सामान्य घायलों के लिए आर्थिक सहायता की राशि जारी कर दी है।

मंदसौर से भानपुरा की ओर जा रही भगवती ट्रेवल्स की बस आज सुबह श्यामगढ़ के धामनिया के पास एक बाइक पर सवारों को बचाने में अनियंत्रित होकर पलट गई। बस में क्षमता से ज्यादा सवारियां बैठाई गई थी। दुर्घटना के दौरान बस में सवार यात्री कुछ समझ पाते उसके पहले ही सड़क से लगी एक खाई में पलटी बस जा गिरी। दुर्घटना में करीब 7 लोगों के मरने की पुष्टि कलेक्टर ओपी श्रीवास्तव ने कर दी है। गंभीर घायलों और घायलों का गरोठ, श्यामगढ़ तथा मंदसोर के अस्पतालों में उपचार चल रहा है। दोपहर करीब १.३० बजे कलेक्टर ने शुरूआती समीक्षा के बाद बताया कि सभी घायलों का उपचार चल रहा है। शासन की ओर से मृतकों को २-२ लाख, गंभीर घायलों को ५०-५० हजार और सामान्य घायलों को २५-२५ हजार रुपए की सहायता दी गई है।

पुलिस अधीक्षक ने जारी की मरने वालों की सूची
मंदसौर के पुलिस अधीक्षक मनोजकुमारसिंह ने दोपहर में शुरूआती जानकारी के आधार पर बस दुर्घटना में मृतकों की सूची जारी कर दी है। मृतकों में सुशील जैन पिता समराज जैन जावरा, विशु पिता पंकज खटीक चंदवासा, राहुल पिता रमेश जोशी, सुवासरा, बिन्दु पति राहुल जोशी सुवासरा, ईश्वर पिता प्रहलादसिंह सेमलिया हाड़ा, नंदकिशोर पिता बाबूलाल खेताखेड़ा और एक मृतक अज्ञात है, जिनसे हाथ पर मीणा लिखा हुआ है।


अस्पताल में अव्यवस्थाओं के बीच अधिकारी पहुंचे
मंदसौर अस्पताल में गंभीर व सामान्य घायलों को लाया गया है। वहीं, मृतकों के शव भी मंदसोर लाए जा रहे है। इससे अस्पताल में काफी भीड़ जुट गई है। कलेक्टर श्रीवास्तव और पुलिस अधीक्षक सिंह ने अस्पताल का दौरा कर व्यवस्थाओं को देखा। अधिकारी घायलों व उनके परिजनों से भी मिले। भीड़ व आफरा-तफरी के कारण अस्पताल में अव्यवस्था फैल गई। कई सामाजिक संगठन भी इस दौरान सहायता और मदद लेकर अस्पताल पहुंच गए। कई लोगों ने तो अपने निजी वाहन भी लगा दिए है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned