scriptRatlam ke DD nagar thane me sudhkhoro par case | डीडीनगर थाना क्षेत्र के दो ब्याजखोरों पर पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा | Patrika News

डीडीनगर थाना क्षेत्र के दो ब्याजखोरों पर पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा

पीडि़तों से कई गुना ज्यादा राशि जमा करवाने के बाद भी मांग रहे हैं लाखों रुपए, पुलिस ने चला रखा है अभियान

रतलाम

Published: December 22, 2021 05:40:45 pm

रतलाम। ब्याजखोरों के खिलाफ पुलिस के चलाए जा रहे अभियान में धीरे-धीरे करके लोग आगे आकर ब्याजखोरों के खिलाफ अपनी शिकायत दर्ज कराने आने लगे हैं। डीडीनग पुलिस थाना क्षेत्र के दो ब्याजखोरों पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। एक पीडि़ता सैनिक की पत्नी से पति-पत्नी ने एक लाख के बदले साढ़े आठ लाख लेने के बाद सात लाख रुपए बकाया निकाल दिया। दूसरे मामले में दो फीसदी ब्याज पर ली राशि जमा नहीं कराई तो ब्याज को भी मूलधन में जोड़कर दस फीसदी वसूली का दबाव बनाने लगा था आरोपी।
सैनिक की पत्नी ने दर्ज कराया केस
डीडीनगर थाना क्षेत्र के दो ब्याजखोरों पर पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा
डीडीनगर थाना क्षेत्र के दो ब्याजखोरों पर पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा
साईं मंदिर के पास हिम्मत नगर निवासी किरण पति संजय राठौर ३६ ने बताया कि उसके पति सेना में ल²ाख में पदस्थ है। उसने रिता अग्रवाल व उसके पति राजेश अग्रवाल से वर्ष 2014 में अपनी दूकान खोलने के लिए एक लाख रुपए उधार लिए थे। उक्त राशि लौटाने के लिए दो कोरे चेक भी पति-पत्नी ने लिए थे। उधार ली गई राशि पर 10 प्रतिशत ब्याज की दर से हर महीने 10,000 रुपए उसकी दुकान पर राजेश अग्रवाल नकद ले जाता था। राशि की अदायगी नियमितरूप से करती रही है। ऐसा करके आज तक उसने राजेश अग्रवाल को एक लाख रुपए पर 10 प्रतिशत ब्याज के मान से आठ लाख चालीस हजार रुपए ब्याज का भुगतान कर दिया है। इसके बावजुद भी राजेश और उसकी पत्नी आज दिनांक तक सात लाख रुपए बकाया होना बता रहे है। इस पर उसे मना किया कि अब वह और राशि देने की स्थिति में नहीं है तो दोनों ने उसे धमकाया। यह बात मां आशा वाघेला, पिता मूलचंद वाघेला व देवर मनोज राठौड़ को भी पता है। इनके समझाने पर वह नही मान रहा है।
४० हजार के ब्याद पर भी ब्याज मांगा
दूसरा मामला भी डीडीनगर पुलिस थाना क्षेत्र के मोहननगर क्षेत्र का है। मोहननगर निवासी शरीफ पिता लाल मोहम्मद बेलिम 39 ने बताया कि उसने रुपयों की आवश्यकता होने से एक वर्ष पूर्व प्रतिप्रार्थी ओम दा पंडित निवासी ब्राहम्णों का वास शहर सराय से 40,000 रुपए दो प्रतिशत ब्याज पर लिए थे। समय-समय पर ब्याज के रुपए ओम दा पंडित को देता रहा। ओम दा पंडित को ग्यारंटी के रूप में साथी शाहरूख निवासी मोहन नगर का एक खाली चैक दिया था। लॉकडॉऊन लगने से आर्थिक स्थिति कमजोर हो गई। काम धंधे बंद होने से ब्याज के रुपए नहीं दे पाया। लॉकडॉऊन समाप्त होने के बाद ओम दा ने ब्याज के रुपए भी मूल राशि में जोड़कर एवं ब्याजदर 10 प्रतिशत बढ़ाकर उधारी के रुपए में मांग रहा है। रुपयों के लिए आये दिन परेशान कर अवैध वसूली की मांग कर रहा है। 9 दिसंबर 2021 की रात आठ बजे शहर सराय पर अपना आटो लेकर खड़ा था। तभी ओम दा पंडित आया व उधारी के रुपए व ब्याजदर बढाकर रुपए मांगने लगा। बोला कि पूरे रुपए नहीं दिये तो ठीक नही होगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

लता मंगेशकर की हालत में सुधार, मंत्री स्मृति ईरानी ने की अफवाह न फैलाने की अपीलAssembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनावKanimozhi ने जारी किया हिन्दी सब-टाइटल वाला वीडियोIndian Railways News: रेल यात्रियों के लिए अच्छी खबर, 22 महीने बाद लोकल स्पेशल ट्रेनों में इस तारीख से MST होगी बहालएक किस्साः जब बाल ठाकरे ने कह दिया था- मैं महाराष्ट्र का राजा बनूंगा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.