बेपरवाह पुलिस: ना थम रही चोरी, न मिले ज्वैलर्स के बैग के लुटेरे

चांदनीचौक स्थित रत्नम ज्वैलर्स के मुनिम से रुपयों से भरा बैग चुरा ले गए थे बदमाश

By: Yggyadutt Parale

Published: 18 Feb 2020, 05:40 PM IST

रतलाम। शहर में इन दिनों चोरों का आतंक अपने चरम पर है। पॉश कॉलोनी की बात हो या भरे बाजार की। इन पर न तो पुलिस का डर है ना ही किसी और का। क्योंकि पुलिस बेपरवाह होकर सिर्फ स्कूली बच्चों के चालान बनाने और चौराहों पर वसूली करने में लगी है। जी हां, इसी बेपरवाही का फायदा उठाते हुए चोर बिंदास होकर चोरी करने में लगे है। हाल ही में चांदनीचौक जैसे भीड़-भाड़ वाले बाजार से लाखों रुपए का बैग चोरी होने के एक सप्ताह बाद भी चोर पुलिस की पकड़ से दूर है। सुराग के नाम पर पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगा है।

11 फरवरी की घटना
चांदनीचौक स्थित रत्नम ज्वैलर्स के मुनिम से ११ फरवरी की रात करीब आठ बजे रुपयों से भरा बैग चुराए जाने के मामले में अब तक माणकचौक पुलिस को सफलता नहीं मिली है। आरोपियों के बारे में पुलिस को कुछ पुख्ता सबूत मिले हैं और उनकी तलाश में कई शहरों में पुलिस दल पहुंचा लेकिन खाली हाथ ही लौटा है। हाल ही में पुलिस ने उज्जैन और राजगढ़ आदि में अपने दल भेजे लेकिन वहां भी कोई नहीं मिल पाया। इसके पहले धार, मंदसौर और अन्य जिलों में पुलिस दल जा चुका है।

तीन लुटेरे थे
११ फरवरी की रात पौने आठ बजे रत्नम ज्वैलर्स के संचालक विजय चाणोदिया की दुकान से मुनिम नरेंद्र योगी निवासी ब्राह्मणों का वास दुकान से रुपयों से भरा बैग लेकर निकला। वह दुकान से आजाद चौक में बने साइकिल स्टैंड पर रखे अपने वाहन को लेने के लिए गया। इस दौरान उसने बैग वाहन पर रखा और उसी समय उसके पीछे आए तीन लोग यह बैग लेकर निकल गए। आजाद चौक के बाहर एक ज्वैलर की दुकान के बाहर लगे सीसीसीटीवी कैमरा में तीन लोग आराम से बाहर आकर फिर भागते हुए दिखाई दे रहे हैं। बैग गायब होने की जानकारी मुनिम ने आजाद चौक से बाहर आकर लोगों को दी तो चांदनीचौक में हड़कंप मच गया था। बैग में लाखों रुपए थे जो अलग-अलग दुकानों को दिनभर में दिए गए सोने-चांदी के आभूषणों के बदले शाम को संग्रहित की जाती है और यह राशि मुनिम के माध्यम से ही एकत्रित करके घर तक पहुंचाई जाती है।

एडवोकेट प्रशांत कुशवाह के घर दिनदहाड़े चोरी

शहर के शक्तिनगर के समीपी शहीद भगतसिंह नगर स्थित एडवोकेट प्रशांत कुशवाह के मकान की दूसरी मंजिल पर बने कैबिन से दिनदहाड़े चोरी की वारदात को अंजाम दे गए। यहां से बदमाश मोबाइल फोन, टेबलेट, नकदी और चिल्लर चुरा ले गए। एडवोकेट प्रशांत कुशवाह ने बताया जिस कैबिन में चोरी हुई वह मकान के दूसरी मंजिल पर बना है। यह उनके पिता गोपाल सिंह कुशवाह के कार्यालय के रूप में उपयोग आता है। दोपहर करीब १२ बजे पिता नीचे तल मंजिल पर खाना खाने के लिए आए। करीब डेढ़ बजे वापस कैबिन में गए तो वहां से मोबाइल फोन, टेबले, पांच से सात सौ रुपए नकदी और चिल्लर कोई बदमाश चुरा ले गया। कैबिन के ड्राज भी खुले हुए थे। कुशवाह ने औद्योगिक क्षेत्र पुलिस थाने में लिखित में आवेदन देकर प्रकरण दर्ज कराया है।

Yggyadutt Parale Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned