जावरा के वकीलों ने सीएसपी बागरी के खिलाफ खोला मोर्चा, निंदा प्रस्ताव पारित

जावरा के वकीलों ने सीएसपी बागरी के खिलाफ  खोला मोर्चा, निंदा प्रस्ताव पारित

harinath dwivedi | Publish: Oct, 13 2018 05:23:39 PM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

कोर्ट परिसर में खड़ी गाडिय़ों का चालान बनाने का मामला

रतलाम/जावरा। कोर्ट परिसर की पार्किंग में खड़े न्यायाधीशों के वाहनों पर चालानी कार्रवाई के मामले में वकीलों ने सीएसपी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। शुक्रवार को अभिभाषक संघ की बैठक में सीएसपी के खिलाफ वकीलों ने निंदा प्रस्ताव पारित किया है। सीएसपी को हटाने की मांग को लेकर शनिवार को उच्च न्यायालय के साथ ही चुनाव आयोग से शिकायत की जाएगी।
पदाधिकारियोंं ने सीएसपी बागरी की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए कहा कि न्यायालय परिसर में बिना एडीजे की अनुमति के पार्किंग में खड़ी गाडिय़ों पर चालानी कार्रवाई की गई, सीएसपी ने सिविल ड्रेस में कार्रवाई की जो कि पूर्णत: गलत है। अधिवक्ताओं को आचार संहिता का खौफ दिखाया कर दल विशेष को लाभ पहुंचाने का काम किया जा रहा है। वकीलों ने जजों से चर्चा कर सीएसपी की शिकायत हाईकोर्ट में दर्ज कराने का निवेदन किया। बैठक में अभिभाषक संघ के अध्यक्ष विनोद पालीवाल, हेमेन्द्र तिवारी, राहुल पहाडिय़ा, प्रकाश मेहरा, वरुण श्रोत्रिय, कुलदीप शर्मा, प्रदीपसिंह सोलंकी, ओमप्रकाश बघेरवाल, देवेन्द्र भटनागर, धर्मेन्द्रसिंह सिसौदिया, एसपी सोनी, सजी वर्गीस, जगदीश धाकड़़ आदि सहित बड़ी संंख्या में अभिभाषक मौजूद रहे। सीएसपी ने इस मामले में प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया।
इधर, न्यायाधीशों के वाहनों पर चालानी कार्रवाई थाना प्रभारियों पर भारी पड़ रहा है। पहले न्यायालयों में आरक्षक चालान, डायरी तथा अन्य काम निपटा लेते थे, वहीं थाना प्रभारियों को ही आना पड़ रहा है। आरोपी का पीआर लेने के लिए थाना प्रभारियों को रहना होगा। कोर्ट की सख्ती के बाद अब किसी भी जुर्म में आरोपी को न्यायालय में पेश करने तथा रिमांड लेने के लिए थाना प्रभारी को उपस्थित रहना होगा।
हत्या के आरोपी 13 तक रिमांड पर
रतलाम. आईटीआई से लापता छात्र की हत्या के आरोप में गिरफ्तार उसके मौसेरे भाई व उसके साथी को पुलिस ने शुक्रवार को न्यायालय में पेश किया गया। पुलिस के रिमांड मांगने पर दोनों आरोपियों को १३ तक रिमांड पर भेज दिया गया। पुलिस घटना से जुड़े कुछ और साक्ष्य इनके माध्यम से पता लगाने का प्रयास करेगी। इसी कारण से उसके द्वारा इनका रिमांड लिया गया है। पुलिस गिरफ्त में आए बादल और संदीप ने निलेश की हत्या कर शव को धार जिले के मांडव में फेंक दिया था।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned