रतलाम-बाजना टू-लेन में बाधा बने पेड़ और बिजली के खंभे

रतलाम-बाजना टू-लेन में बाधा बने पेड़ और बिजली के खंभे

By: Chandraprakash Sharma

Published: 05 Sep 2019, 05:19 PM IST

रतलाम। रतलाम से बाजना-कुशलगढ़ मार्ग का बचा हुआ काम आज भी पूरा नहीं हो सका है। ५७ किमी लंबे इस मार्ग को बनने में कई महीने बीत गए, लेकिन यह काम आज भी पूरा नहीं हो सका है। कहीं बिजली के खंभे बाधक बन रहे है तो कई पेड़। इनकी शिफ्टिंग नहीं होने से आज भी इस मार्ग में बीच-बीच के कुछ हिस्से अधूरे पड़े है। इन्हीं परेशानियों के चलते बुधवार को कलेक्टर ने लोक निर्माण विभाग के साथ वन विभाग और अन्य अधिकारियों को तलब किया था।
कलेक्टर रुचिका चौहान ने बैठक वन मंडलाधिकारी एसके गुप्ता, लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री दीपक गुप्ता को निर्देश दिए कि वे काम में सक्रियता बरते और मौका निरीक्षण करें। इसके साथ ही आवश्यक विभागीय कार्रवाई करते हुए सड़क निर्माण काम पूरा करवाएं। पीडब्ल्यूडी से रोड के अधूरे हिस्सों के संबंध में जानकारी ली तो पता चला कि रतलाम के शुरू में लगभग 4 किलोमीटर के कुछ हिस्से में बचे हुए कार्य को पूर्ण करना है। यहां पर पेड़ों को हटाने व बिजली के खंभों की शिफ्टिंग का काम बाकी है। बैठक के दौरान कलेक्टर ने बाजना रोड पर बनने वाले रेलवे ओवरब्रिज निर्माण पर भी चर्चा की। रेलवे इंजीनियर द्वारा बताया गया कि आगामी 15 दिनों में उनके द्वारा ड्राफ्ट तैयार कर दिया जाएगा। कलेक्टर ने पीडब्ल्यूडी और बिजली कंपनी को डीपीआर के हिसाब से काम करने के निर्देश दिए है। बैठक में सेतु निर्माण विभाग के उज्जैन से आए कार्यपालन यंत्री एसके अग्रवाल व रेलवे इंजीनियर नरेंद्र मीणा भी उपस्थित थे।

Chandraprakash Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned