रोजगार सहायक-सचिव की हड़ताल से लोगों के अटके काम

नियमितीकरण की मांग को लेकर 22 तक हड़ताल, 23 को भोपाल में होगा प्रदर्शन

रतलाम। मप्र रोजगार सहायक सचिव संगठन की अपील पर जिले के 418 ग्राम पंचायत में काम करने वाले सहायक दो दिन से हड़ताल पर हैं। ये हड़ताल 22 अक्टूबर तक चलेगी व मांग पूरी नहीं होने पर 23 अक्टूबर को भोपाल में प्रदर्शन करेंगे। इनकी मांग है कि वर्ष 2008 से प्रदेश में व रतलाम में 2012 से काम कर रहे हंै, लेकिन अब तक नियमितकरण नहीं किया गया है। इस हड़ताल से दो दिन से जिले में मनरेगा सहित अन्य कार्य ठप पडे़ हैं।
पुराने कलेक्टर कार्यालय के सामने गुलाब चक्कर में ये हड़ताल दो दिन से चल रही है। इस हड़ताल की वजह इन कर्मचारियों को लगातार नियमित करने का आश्वासन देना तो है, लेकिन किसी सरकार ने अब तक ये कार्य नहीं किया। इसलिए बुधवार से ये कर्मचारी आंदोलन की राह पर उतर गए हंै। अब 23 अक्टूबर को भोपाल में पूरे राज्य के सहायक सचिव प्रदर्शन करने की योजना बन रही है।
काम हो रहा प्रभावित
संगठन के ब्लॉक अध्यक्ष लोकेश जाट के अनुसार उनका मुल कार्य बारिश के बाद मनरेगा योजना में रोजगार की व्यवस्था करना है, वो कार्य ठप हो गया है। इसके अलावा ऑनलाइन कार्य, समग्र आईडी का पंजीयन, शासन का सीपीडीएस अभियान ठप हो गया है। इस योजना में वर्ष 2020-2021 के लिए ग्रामीण क्षेत्र की विकास योजना का प्लान बनना है। वो कार्य भी रुक गया है। जाट के अनुसार 15 अक्टूबर को नियमितकरण के लिए आदेश निकलना था, लेकिन अंतिम समय में ये कार्य नहीं हुआ। आंदोलन में संगठन जिलाध्यक्ष निर्भयराम पाटीदार, सचिव घनश्याम प्रजापत, रतलाम ब्लॉक अध्यक्ष लोकेश जाट, ब्लॉक सहायक सचिव शाकिर अली आदि शामिल हुए।

Chandraprakash Sharma
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned