कोर्ट में काम करने वाले निजी टाइपिस्ट ने सुसाइड नोट लिखा, की आत्महत्या

कोर्ट में काम करने वाले निजी टाइपिस्ट ने सुसाइड नोट लिखा, की आत्महत्या

रतलाम। लोगों ने मुझे गलत समझ रखा है, मैं गलत नहीं हूं, फिर भी मुझे हीन भावना से देखा जाने लगा, मैं सबसे अच्छे से बात करता हूं, उसके बाद भी मेरे साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया जा रहा है, मेरी पत्नी भी अच्छी है, कोर्ट की फाइल में पैसे रखे है, वह मेरी पत्नी को दे देना, सभी अच्छे से रहना।
यह सब कुछ शहर की विवेकानंद कॉलोनी में निवास करने वाले कोर्ट में निजी टाइपिस्ट दिनेश पिता रेवाशंकर भट्ट (61) ने अपने सुसाइड नोट में लिखा है। रविवार को सुबह 10 से 11 बजे के बीच जब दिनेश अपने घर पर अकेला था, तो उसने घर के एक कमरे में पंखे से रस्सी का फंदा बनाकर आत्म हत्या कर ली। जांच अधिकारी रघुवीर जोशी ने बताया कि रविवार को सुबह दिनेश और उसका बेटा हेमंत भट्ट जो जावरा कोर्ट में ही वकील है। दोनों घर पर अकेले थे। सुबह करीब 10 बजे हेमंत किसी काम से घर से बाहर गया था, इसी बीच दिनेश ने रस्सी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। हेंमत के पहुंचने के बाद पडोसियों ने रस्सी को काटकर शव को नीचे उतारा और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पंचनामा बनाया व शव को शासकीय अस्पताल भेजा।
अब पुलिस कर रही मामले की जांच
पुलिस के अनुसार घर छोटा होने के साथ ही क्रिया-क्रम के लिए लोगों आना-जाना शुरू होने के चलते घटना स्थल की वीडियोग्राफी करवाई गई, जिस कमरे में फांसी लगाई थी, उसका दरवाजा नहीं था, जिसके चलते कमरा सील नहीं हो सकता था, तो सील नहीं किया गया। हालांकि मृतक ने सुसाइड नोट छोड़ा था तो इसकी आवश्यता नहीं लगी। सुसाइड नोट में मृतक ने जिन लोगों द्वारा गलत समझा जाने तथा हीन भावना से देखने की बात लिखी है, उसको लेकर पुलिस जांच कर रही है।
करीब 30 सालों से कर रहे थे कार्य
शहर की कोर्ट में मृतक दिनेश पिछले करीब 30 सालों से टाईपिंग का काम कर रहे थे, कोर्ट में वकालात करने के लिए उन्होने एलएलबी की डिग्री भी ले रखी थी, लेकिन पचास साल के व्यक्तिों को सनद नहीं मिलने के चलते वे वकालात नहीं करते थे। उनके स्थान पर उनका बेटा कोर्ट में वकालात करता था। वहीं विवेकानंद कॉलोनी में स्थित मंदिर में दिनेश पूजा भी करते थे, रविवार को भी उन्होने सुबह पूजा की थी। सुबह जब दिनेश की मौत की खबर कॉलोनी सहित समाजजनों को लगी तो स्तब्ध रह गए। दोपहर तक उनके घर पर लोगों भी भीड़ जमा हो गई।

Show More
Chandraprakash Sharma
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned