ग्वालियर प्रयोगशाला में भेजे गए तीन नमूने फेल

कलेक्टर ने दिए निर्देश प्रयोगशाला अधिकारी से सम्पर्क कर नमूनों की रिपोर्ट शीघ्र मंगवाएं

By: Chandraprakash Sharma

Published: 03 Dec 2019, 05:34 PM IST

रतलाम। संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास मप्र भोपाल के निर्देशानुसार उर्वरक, बीज एवं पौध संरक्षण औषधि गुण नियंत्रण के लिए विशेष अभियान चलाया गया। 15 से 30 नवंबर तक चले अभियान में दल के सदस्यों विकासखंड और तहसील स्तरीय निरीक्षण करते हुए खाद-बीज और दवाई के कुल 98 नमूने एकत्र कर प्रयोगशाला पहुंचाए थे। जिला कलेक्टर रूचिका चौहान ने बैठक में कृषि विभाग के विशेष गुण नियंत्रण अभियान की समीक्षा करते हु जानकारी चाही तो उपसंचालक कृषि जीएस मोहनिया ने बताया कि अब तक ग्वालियर प्रयोगशाला से 3 नमूनों के फेल होने की जानकारी मिली है। उपसंचालक को निर्देश दिए कि प्रयोगशाला अधिकारी से संपर्क कर नमूनों की रिपोर्ट शीघ्र मंगवाने की व्यवस्था की जाए।
उल्लेखनीय है कि गठित दल के सदस्यों द्वारा 15 दिन में जिले की 144 उर्वरक दुकानों का निरीक्षण किया, इसमें से 52 के नमूने लिए, इसी प्रकार बीज की 73 फर्मों का निरीक्षण कर २६ नमूने और दवाई की 60 फर्मों का निरीक्षण करते हुए 20 नमूने एकत्र किए थे। इन्ही प्रयोगशाला में जांच के लिए पहुंचाया गया। कार्रवाई के दौरान विभाग की और से फर्मों पर गए दल को निरीक्षण के दौरान कई अनियमितताएं पाए जाने पर खाद में 11 को नोटिस, बीज और दवाई में 4-4 फर्म संचालकों को कारण बताओं नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है। नामली एग्रो एजेंसी का लायसेंस निरस्त कर उसके खिलाफ एफआईआर की कार्रवाई करवाई गई थी।
ग्वालियर लेब से तीन नमूने फेल होने की जानकारी मिली है, प्रयोगशाला से नमूने की जांच के बाद परिणाम आने लगे हैं। अभियान के दौरान 280 फर्मो से खाद-बीज दवाई का निरीक्षण करते हुए 98 के नमूने लेकर प्रयोगशाला पहुंचाए गए है। नामली एग्रो एजेंसी पर एफआईआर करवाकर लायसेंस निरस्त करवाया गया। 19 फर्म को कारण बताओं नोटिस जारी किए गए है।
- जीएस मोहनिया, उपसंचालक कृषि रतलाम

Chandraprakash Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned