मेडिकल कॉलेज में हर माह बनेगी 500 किलोवॉट बिजली

अप्रैल से मिलने लगेगी सोलर ऊर्जा से बिजली
अभी 10 लाख रुपए महीने का बिजली में होता है व्यय

रतलाम। शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय में अप्रैल माह से सौर उर्जा का उत्पादन शुरू हो जाएगा। इसके लिए महाविद्यालय प्रशासन व क्लीन टेक सोलर एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड के बीच अनुबंध सोमवार को हो गया है।
अनुबंध के अनुसार अप्रैल माह से महाविद्यालय को सौर उर्जा मिलने लगेगी। इस समय महाविद्यालय का बिजली बिल करीब 10 लाख रुपए आता है, 500 किलोवॉट प्रतिमाह उत्पादन होने के बाद बिजली कंपनी को उर्जा बिक्री करने की स्थिति में महाविद्यालय प्रशासन होगा। सौर उर्जा के लिए लगने वाले संसाान की कीमत करीब 2 करोड़ रुपए है।
शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय तथा क्लीन टेक सोलर एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड के मध्य महाविद्यालय में सोलर पेनल लगाने के लिए सोमवार दोपहर को अनुबंध किया गया। अनुबंध पर महाविद्यालय की और से अधिष्ठाता डॉक्टर संजय दीक्षित तथा क्लीन टेक कम्पनी की और से आनंद गालापुरे ने प्रतिनिधित्व कर हस्ताक्षर किए। इस दौरान मध्यप्रदेश ऊर्जा विकास निगम के जिला अक्षय ऊर्जा अधिकारी सोहनलाल बजाज तथा शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय से डॉक्टर रितेश गुर्जर व डॉक्टर उमेश सिन्हा उपस्थित थे।
फै क्ट फाइल
- वर्तमान बिजली बिल 10 लाख रुपए प्रतिमाह कम होगा।
- सौर उर्जा लगने से हर वक्त चिकित्सा महाविद्यालय जगमग रहेगा।
- 500 किलोवॉट सौर बिजली का हर माह उत्पादन होगा।
- 2 करोड़ रुपए की संसाधन की करीब लगात आएगी।
- इसी वर्ष अप्रैल में कार्य पूरा होकर बिजली मिलने लगेगी।
- बिजली को अन्य स्थान पर भी बिक्री किया जा सकेगा।
इनका कहना
सौर उर्जा उत्पादन अप्रैल माह से शुरू हो जाएगा। इसके लिए जरूरी अनुबंध हो गया है। इससे हर तरह से लाभ होगा। हम अन्य कंपनियों को सरप्लस बिजली की बिक्री कर सकेंगे।
- डॉ. संजय दीक्षित, डीन मेडिकल कॉलेज

Chandraprakash Sharma
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned