सात फेरे लेने के बाद 262 दुल्हनों को 70 लाख से अधिक के शगुन का इंतजार

मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में सात माह बाद भी नहीं आई राशि

रतलाम। प्रदेश में कांग्रेस सरकार ने मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत दुल्हनों को दी जाने वाली राशि बढ़ाकर भले ही दोगुनी कर दी है, लेकिन इसका लाभ हितग्राहियों को अब तक नहीं मिल पा रहा है। सरकार को शादी कराने के बाद यह राशि देने में पसीने छूट रहे हैं। यहीं कारण है कि सात माह बीत जाने के बाद भी जिले की 262 दुल्हनों को शगुुन की राशि का भी इंतजार है।
40 प्रतिशत का भुगतान अब तक
बीते एक साल में जिले में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत 382 जोड़ों के विवाह हुए है। इसमें से 262 हितग्राहियों को एक करोड़ 33 लाख 62 हजार रुपए प्रदान किए जाने थे। इसमें शासन अभी तक 40 प्रतिशत राशि का ही भुगतान कर पाया है। शेष राशि के लिए हितग्राही पंचायत, जनपद पंचायत, जिला पंचायत के साथ कलेक्टर कार्यालय में लगने वाले सामाजिक न्याय विभाग के चक्कर लगा रहे हैं।
पहले 26 हजार रुपए मिलते थे
एक साल पूर्व भाजपा शासन में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत हितग्राहियों को 26 हजार रुपए प्रदान किए जाते थे। इसमें से आयोजन व सामान आदि खर्च के बाद शेष राशि की एफडी दुल्हन के नाम कर दी जाती थी। कांग्रेस की सरकार काबिज होने के बाद वादे के अनुसार उक्त राशि को बढ़ाकर 51 हजार रुपए कर दिए है।
120 को राशि का भुगतान
382 हितग्राहियों में से सरकार ने 120 हितग्राहियों की राशि का भुगतान विभाग के माध्यम से हितग्राहियों को कर दिया है। इसके साथ ही शेष 262 हितग्राहियों को 40 प्रतिशत राशि करीब 70 लाख रुपए खातों में जमा करा दिए हैं। शेष राशि के लिए शासन को पत्र लिखा है, शासन से राशि मिलते ही वितरित कर दी जाएगी।
इनका कहना
मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के हितग्राहियों की राशि के लिए डिमांड भेज रखी है। मामला शासन स्तर पर अटका है। वहां से राशि आवंटित होते ही हितग्राहियों के खाते में जमाकरा दी जाएगी। जल्द ही राशि के आवंटन की उम्मीद है।
एसएस चौहान, उप संचालक, सामाजिक न्याय।

Chandraprakash Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned