महादेव मंदिर के नाम पर बनी समितियां भंग की जाए

महादेव मंदिर के नाम पर बनी समितियां भंग की जाए

Akram Khan | Publish: Mar, 17 2019 05:51:48 PM (IST) Ratlam, Ratlam, Madhya Pradesh, India

महादेव मंदिर के नाम पर बनी समितियां भंग की जाए

रतलाम। (आलोट) पिछले कुछ दिनों से श्री अनादिकल्पेश्वर महादेव मंदिर के नाम से बनी कुछ समितियों के कामकाज को लेकर आरोप-प्रत्यारोप की स्थिति निर्मित हुई है। कुछ ऐसे ही आरोप लगाते हुए मंदिर जीर्णोद्धार समिति ने शनिवार को एसडीएम चंदरसिंह सोलंकी को ज्ञापन पत्र सौंपा।

समिति ने अपने ज्ञापन पत्र में लिखा है कि अनादिकल्पेश्वर महादेव मंदिर के नाम से बनी अन्य समितियों को तत्काल प्रभाव से भंग की जाए। पत्र में यह आरोप भी लगाया गया है कि अन्य समितियों द्वारा त्योहार, उत्सव के नाम पर चंदा एकत्रित किया जाता है। इससे मंदिर जीर्णोद्धार कार्य को गति नहीं मिल पा रही है और आमजन भी अलग-अलग समिति के चक्कर में मंदिर जीर्णोद्धार कार्य में पर्याप्त दान सहयोग नहीं कर पा रहे है।

ज्ञापन पत्र देते समय मंदिर जीर्णोद्धार समिति के अध्यक्ष केदारमल काला, अनिल भरावा, विनय निगम, मनीष पांचाल, जितेंद्र व्यास, राजू गुप्ता, भूपेंद्र सिंह सोलंकी आदि कई सदस्यगण उपस्थित थे। इधर जय महादेव सेवा समिति ने भी एसडीएम को ज्ञापन पत्र दिया है । जिसमें उसने मंदिर जीर्णोद्धार समिति पर आरोप लगाया कि पिछले दस सालों से मंदिर जीर्णोद्धार का कार्य चल रहा है। इस दौरान समिति द्वारा बड़ी राशि इक_ा कर व्यय की गई, परन्तु शासन के नियमों को अनदेखा किया गया है। अतएवं जीर्णोद्धार समिति भंग की जाए। इस दौरान समिति के विनोद माली, राजेश प्रजापत, संजय पांचाल, विजेंद्र सिंह सोलंकी आदि कार्यकर्ता मौजूद थे।

एक ज्ञापन मंडी के मुख्य पुजारी जितेंद्र व्यास ने जय महादेव समिति का संस्थापक होने के नाते प्रशासन को देते हुए मांग की है कि जय महादेव सेवा समिति के नाम पर चल रही संस्था को तुरंत बंद किया जाए। मंदिर, नगर एवं क्षेत्र में इस संस्था के नाम से आने वाले दिनों में कोई गतिविधि ना हो और ना ही कोई इस समिति के नाम से बाजार से चंदा लाए। क्योंकि वर्तमान में समिति के अध्यक्ष ने समिति से निजी कारणों के चलते इस्तिफा दे दिया है, और उनके पूरी समिति को भंग कर सभी सदस्यों की सदस्यता समाप्त कर दी गई है। अगर संस्था के नाम से कोई भी चंदा या कोई अन्य प्रकार के कार्य करता है तो उस पर कार्यवाही की जाए।

दोनों समितियों द्वारा अलग अलग ज्ञापन मिले है, सोमवार को मंदिर पहुंच कर वहां की व्यवस्था देख कर मंदिर के नाम पर चलने वाली सभी समितियों को भंग किया जाएगा। जिसकी सूचना भी स्थाई रूप से मंदिर परिसर में लगाते हुए सूचित किया जाएगा।
चन्दर सिंह चौहान, एसडीएम आलोट

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned