मेडिकल कॊलेज, हम दूसरे चरण के लिए भी हो गए तैयार

मेडिकल कॊलेज, हम दूसरे चरण के लिए भी हो गए तैयार

By: harinath dwivedi

Published: 24 Jul 2018, 10:52 AM IST

रतलाम। भले ही हमें मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) से पहले चरण की एलओपी प्राप्त करने में खासी मशक्कत करना पड़ी हो किंतु अब हम इतने तैयार हो गए हैं कि दूसरे चरण का भी निरीक्षण हो तो उसकी एलओपी भी आसानी से मिल सकती है। मेडिकल कॉलेज में हो रही तैयारियों को देखते हुए कहा जा सकता है कि किसी भी समय एमसीआई की टीम दूसरे दौर की एलओपी के लिए आए तो कोई दिक्कत नहीं होगी।

मेडिकल कॉलेेज में इसी सत्र से पहली बैच की कक्षाएं शुरू होने जा रही है। यह रतलाम के लिए न केवल बड़ी सौगात है वरन रतलाम के सुनहरे भविष्य की तरफ एक बड़ा कदम भी है। पहले चरण की लेटर ऑफ परमिशन (एलओपी) देने में मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) की टीम ने जिस तरह से कड़ाई बरती थी उससे एक सबक भी मिला। आज मेडिकल कॉलेज में इतनी तैयारियां हो चुकी है कि आगामी एक या दो माह में एमसीआई दूसरे चरण की एलओपी का निरीक्षण करे तो वह भी उसे पूरा मिलना तय है। मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. संजय दीक्षित बताते हैं कि दूसरे चरण के डिपार्टमेंट भी लगभग तैयार होने को है और नियुक्तियां भी उसी तरह से हो चुकी है।

 

कुल आठ डिपार्टमेट होंगे मेडिकल कॉलेज में

प्रथम वर्ष की कक्षाएं संचालित करने के लिए तीन डिपार्टमेट की जरुरत होती है। इसमें फिजियोलॉजी, बायोकैमेस्ट्री और एनाटामी हैं। इसके अलावा पूरे चार साल के एमबीबीएस के कोर्स के लिए शेष पांच डिपार्टमेट की और जरुरत पड़ती है। इनमें फार्माकोलॉजी, पैथालॉजी, माइक्रोबायोलॉजी, फारेंसिक मेडिसीन एंड टाक्सीकोलॉजी के साथ ही कम्युनिटी मेडिसीन डिपार्टमेंट हैं। इनमें से फारेंसिक मेडिसीन और पैथालॉजी के लिए प्रथम चरण की एलओपी मिलने से पहले ही नियुक्ति हो चुकी है।

 

बढ़ सकती है दूसरे दौर की काउंसलिंग

पहले चरण की प्रवेश प्रक्रिया में काउंसलिंग हो चुकी है उन मेडिकल स्टूडेंट को प्रवेश लेने के लिए २७ जुलाई तक की छूट मिल गई है। इससे दूसरे दौर की २४ जुलाई से शुरू होने वाली काउंसलिंग की तारीख बढऩा तय माना जा रहा है। यह तारीख बढ़ती है और अगस्त माह में तय होती है तो फिर रतलाम सहित प्रदेश के अन्य मेडिकल कॉलेज जो इसी सत्र से शुरू हो रहे हैं उनकी कक्षाएं १० अगस्त के बाद ही शुरू हो पाएंगी। हालांकि दूसरे दौर की काउंसलिंग के बाद मेडिकल स्टूडेंट को रिपोर्टिंग के लिए जो समय दिया गया है उसमें अभी तक किसी तरह के परिवर्तन की कोई सूचना मेडिकल कॉलेजों को नहीं है।

-------------

 

काफी तैयारियां हो चुकी है मेडिकल कॉलेज में

मेडिकल कॉलेज रतलाम में काफी तैयारियां हो चुकी है। पहले चरण की एलओपी की तैयारियों के बीच ही दूसरे चरण की एलओपी के लिए भी लगभग तैयारियां हो चुकी है। यह हमारे लिए अच्छी बात है कि इतनी सारी तैयारियां हो गई है जिससे अगले साल हमें ज्यादा मशक्कत नहीं करना पड़ेगी।

डॉ. संजय दीक्षित, डीन मेडिकल कॉलेज, रतलाम

-------------

सारे डिपार्टमेंट के भवन तैयार

मेडिकल कॉलेज में फस्र्ट एलओपी के लिए जितने भवनों की जरूरत थी उससे ज्यादा हमने तैयार कर दिए हैं। यह तैयारी दूसरे एलओपी तक के भवन और डिपार्टमेट तक की हो चुकी है। वैसे ओवर आल हमारी तरफ से भवन निर्माण का कार्य बहुत ज्यादा नहीं बचा है। कोशिश होगी जल्द ही पूरा मेडिकल कॉलेज हैंडओवर कर दें।

आरके सोलिया, उपमहाप्रबंधक व प्रोजेक्ट मैनेजर एमपीआरडीसी

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned