पुरस्कार को लेकर स्कूल प्राचार्य ने कलेक्टर को जताई आपत्ति

मुख्य समारोह में कलेक्टर तन्वी सुंद्रियाल ने ध्वजारोहण कर ली परेड की सलामी, स्कूलों ने प्रस्तुत किए सांस्कृतिक कार्यक्रम

By: harinath dwivedi

Updated: 26 Jan 2018, 01:12 PM IST

रतलाम। शहर में गणतंत्र दिवस पूरे उत्साह और उल्लास के साथ मनाया गया। स्कूलों और कार्यालयों में सुबह तय समय पर झंडा वंदन के बाद नौ बजे पुलिस परेड ग्राउंड पर मुख्य समारोह का आयोजन हुआ। मुख्य समारोह में कलेक्टर तन्वी सुंद्रियाल ने ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली। मुख्यमंत्री का जनता के नाम संदेश का वाचन कर प्रदेश की खुशहाली की बात कही। स्कूली बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम, पीटी प्रदर्शन, मल्लखंभ का भी प्रदर्शन किया गया। सांस्कृतिक कार्यक्रमों के परिणामों को लेकर एक स्कूल प्राचार्य ने कलेक्टर को आपत्ति भी दर्ज कराई कि गलत निर्णय से सरकारी स्कूल के बच्चों का मनोबल गिरता है। निर्णायकों ने जिस तरह से निर्णय दिया है उससे सरकारी स्कूल के बच्चे और स्टॉफ मायूस हैं, क्योंकि कम संसाधनों में वे यहां तक पहुंचे हैं फिर भी पीछे रखा गया।

patrika

सुबह नौ बजे अतिथि आगमन के बाद ध्वजारोहण कार्यक्रम हुआ। स्वतंत्रता संग्राम सैनानियों और अन्य अतिथियों की उपस्थिति में ध्वजारोह हुआ। कलेक्टर सुंद्रियाल ने जीप में सवार होकर परेड की सलामी ली। जीप में उनके साथ पुलिस अधीक्षक अमित सिंह भी थे। इसके बाद जवानों ने एक-एक करके तीन बार हर्ष फायर किया गया। पुलिस, एनसीसी और जिला पुलिस बल ने परेड प्रस्तुत की। कलेक्टर और एसपी ने परेड की अगुवाई करने वाले कप्तानों से परिचय प्राप्त किया। इसके बाद सांस्कृततिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति हुई। पीटी प्रदर्शन, देशभक्ति गीत, वंदे मातरम, बचपन बचाओ सहित अन्य विषयों पर कार्यक्रमों में विद्यार्थियों ने प्रस्तुति दी।

patrika

स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का सम्मान

कार्यक्रम स्थल पर विशेषतौर से बुलाए गए स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का स्वागत किया गया। आमंत्रित अतिथियों में शहर विधायक और राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष चेतन्य काश्यप, जिपं अध्यक्ष प्रमेश मईड़ा, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक अध्यक्ष अशोक चौटाला, भाजपा जिलाध्यक्ष कान्हसिंह चौहान, पूर्व जिलाध्यक्ष बजरंग पुरोहित, बलवंत भाटी सहित अन्य मौजूद रहे।

इन्हें मिले पुरस्कार

सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति पर निर्णायकों ने पहले तीन स्थान के लिए पुरस्कारों की घोषणा की। इसमें पहला स्थान रतलाम पब्लिक, दूसरा मार्निंग स्टार और तीसरा स्थान नवीन कन्या उमावि आनंद कालोनी को प्रदान किया गया। पीटी प्रदर्शन के लिए उत्कृष्ट उमावि को और मल्लखंभ के लिए भी पुरस्कार दिया गया। मल्लखंभ के लिए एसपी ने पांच हजार रुपए की घोषणा की। झांकियों के लिए पहला इनाम पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, दूसरा जनजातीय कार्य विभाग और तीसरा जिला व्यापार एवं उद्योग केंद्र को दिया गया।

पुरस्कारों पर आपत्ति

सांस्कृतिक कार्यक्रमों के दौरान कुल जमा पांच स्कूलों की प्रस्तुति हुई जिसमें से एक पीटी प्रदर्शन और चार सांस्कृतिक कार्यक्रम थे। नवीन कन्या उमावि की प्राचार्य ममता अग्रवाल ने पुरस्कारों पर आपत्ति जताते हुए कलेक्टर तन्वी सुंद्रियाल के सामने अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि कम संसाधनों में सरकारी स्कूल की लड़कियों और स्टॉफ ने अपनेस्तर व्यवस्थाएं जुटाकर प्रदर्शन किया किंतु तीसरा स्थान दिया। इससे लड़कियों में मायूसी है। सरकारी स्कूल की लड़कियों ने कम संसाधन में इतनी मेहनत की थी।

झलकियां

- आमंत्रितों के अलावा मंच के दूसरी तरफ का हिस्सा जहां कुर्सियां लगाई गई थी लोग पहुंचे ही नहीं थे और ज्यादातर समय कुर्सियां खाली ही पड़ी रही।

- कार्यक्रम प्रस्तुति के दौरान ही कुछ स्कूलों के कार्यक्रम की समय सीमा काफी ज्यादा हो गई थी जबकि हर एक स्कूल को कार्यक्रम प्रस्तुत करने के लिए पांच से छह मिनट का समय दिया गया था।

- निर्णायकों ने निजी स्कूलों के प्रदर्शन को बेहतर आंका जबकि कम संसाधन वाले सरकारी स्कूलों के प्रदर्शन को नजरअंदाज किया।

- श्रेष्ठ कर्मचारियों के पुरस्कार में देखने को मिला कि विभाग प्रमुख के चहेतों को इस बार भी पुरस्कार मिल गए। अच्छे कार्य करने वालों को पीछे रख दिया गया।

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned