शेल्टर होम: भाजपा के केन्द्रीय मंत्री के बेटे के पत्र पर हाईप्रोफाइल लेडी को मिला था बड़ा पद

शेल्टर होम: भाजपा के केन्द्रीय मंत्री के बेटे के पत्र पर हाईप्रोफाइल लेडी को मिला था बड़ा पद

Sachin Trivedi | Updated: 03 Feb 2019, 02:51:53 PM (IST) Ratlam, Ratlam, Madhya Pradesh, India

शेल्टर होम: भाजपा के केन्द्रीय मंत्री के बेटे के पत्र पर हाईप्रोफाइल लेडी को मिला था बड़ा पद

रतलाम. रतलाम जिले के जावरा के शेल्टर होम में बालिकाओं का शोषण उजागर होने के बाद पुलिस ने एसआईटी बनाकर अन्य संदेहियों की धरपकड़ तेज कर दी है। वहीं, एक और बड़ा खुलासा हुआ है, हाईप्रोफाइल रहने वाली शेल्टर होम संचालिका रचना भारतीय को बाल कल्याण समिति अध्यक्ष के अहम पद पर पहुंचाने के लिए भाजपा नेताओं ने जोर लगाया था। केन्द्र में मंत्री और भाजपा के पूर्व विधायक के पत्र पर सरकार ने उनको पद सौंपा था, वहीं कांग्रेसी परिवार से होने के कारण भी रचना को कई लाभ मिले थे। कुंदन कुटीर बालिका गृह में चल रहे अनैतिक कृत्यों का खुलासा होने के बाद शनिवार को एसपी जावरा पहुंचे और कुंदन कुटीर बालिका गृह का बारिकी से निरीक्षण किया। अवलोकन के बाद सायबर सेल और एफएसएल की टीम को साक्ष्य जुटाने की जिम्मेदारी दी। आश्रयगृह पर सीसीटीवी केमरे लगे है, उनके डीवीआर जब्त किए गए। अवलोकन के दौरान घटना स्थल के आसपास शराब की बोतलों के साथ ही कई आपत्तीजनक सामग्री पुलिस ने जुटाई है। बकोल एसपी इस मामले में कई सफेद पोश लोगों के नाम भी सामने आने की संभावना है। इस आश्रयगृह में पहले दिन से लेकर अंतिम दिन जितनी बालिकाऐं आई सभी से पुछताछ और बयान लिए जाएंगे, आने जाने वाले लोगों के साथ ही बालिकागृह पर जीवंत सम्पर्क रखने वाले तथा रात के अंधेरे में आने वाले लोगों की फोटो बालिकाओं को दिखाकर पहचान करवाई जाएगी, पहचान के बाद उन लोगों पर भी कार्रवाई होगी और यदि बालिकाऐं एससी एसटी की मिली और उनके साथ कोई घटना हुई होगी तो आरोपियों पर एट्रोसिटी की धाराए भी बढाई जाएगी।

patrika

बालगृह से लेकर आसपास की बारिकी से जांच की

जावरा के पिपलौदा रोड पर कुंदन वेलफेयर आर्गेनाईजेशन के माध्यम से संचालित होने वाले कुंदन कुटीर बालगृह (बालिका) का सच उजागर होने के बाद शनिवार को मामले में पड़ताल करने पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी जावरा पहुंचे, उन्होने एसडीओपी डीआर माले तथा थाना प्रभारी बीएल सोलंकी से जानकारी ली। एसपी कुंदन कुटीर पहुंचे और जांचकर्ता आर्य के साथ घटना स्थल का बारिकी से अवलोकन किया। पूरे घटना स्थल का बारिकी से अवलोकन करने के बाद एसपी तिवारी ने एसडीएम आर्य को बारिकी से साक्ष्य जुटाने के लिए राजस्व विभाग तथा पुलिस विभाग के अधिकारियों की एक टीम बनाने के लिए कहा। जिस पर एसडीएम ने नायब तहसीलदार सीएल टांक तथा पटवारी दिनेश आंजना को दल में शामिल किया। एसडीओपी माले, थाना प्रभारी सोलंकी के साथ एसआई विजय सनस ने सायबर सेल तथा एफएसएल के अधिकारियों के साथ मिलकर कुंदन कुटीर बालगृह का कोने कोने से लेकर आसपास की बारिकी से जांच की तथा कई साक्ष्य जुटाए। इस दौरान आश्रयगृह पर लगे सीसीटीवी के डीवीआर जब्त किए तो घटना स्थल के समीप महंगी शराब की बोतले तथा जो बाते बयान में बालिकाओं ने बताई थी उन सभी जीचों की जांच की गई और सामान जब्त किया गया है। वहीं पूरे मामले की विडियोग्राफी भी करवाई गई है।

patrika

फोटो दिखाकर करवाई जाएगी पहचान
बालिकाओं को बाईक पर बैठाकर फार्म हाऊस पर ले जाने तथा पुलिस को मिले गुप्त पत्र वाले मामले में एसपी गौरव तिवारी ने बताया कि इस बालगृह में दिन के उजाले तथा रात के अंधेरे में आने वाले सभी लोगों की पहचान उनके फोटो दिखाकर उन बालिकाओं से करवाई जाएगी। जो यह बालगृह खुलने से लेकर अब तक इस बालगृह में रही है। साथ ही फार्म हाऊस के चौकीदार से भी शिनाख्ती करवाई जाएगी। यदि इन बालिकाओं द्वारा किसी की पहचान की जाती है और उनके साथ किसी प्रकार की छेड़छाड या अश्लील कृत्य करना पाया गया तो उन लोगों को भी इस मामले में आरोपी बनाया जाएगा। पीडि़ताऐं यदि एससीएसटी की निकली तो सभी आरोपियों पर एट्रोसिटी एक्ट के तहत भी धाराए बढ़ाई जाएगी।

जरुरत पडऩे पर लेगें रिमांड
गंभीर मामले में पुलिस द्वारा बालगृह की संचालिका रचना भारतीय, उनके पति ओमप्रकाश भारतीय, संस्था अध्यक्ष संदेश जैन तथा सचिव दिलीप बरैया से पुछताछ के लिए रिमांड पर नहीं लिए जाने की चर्चाओं को विराम देते हुए एसपी तिवारी ने बताया कि अभी साक्ष्य जुटाए जा रहे है, इस मामले में हर पहलु पर जांच की जा रही है, बालिकाओं को फोटो दिखाने के बाद जो पहचान होगी, वित्तीय अनियमितताऐं पाए जाने पर जरुरत पडऩे पर १२ फरवरी के बाद कभी भी रिमांड लिया जा सकता है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned