पार्किंग की जगह दुकानें, नियम तोड़कर किया निर्माण

पार्किंग की जगह दुकानें, नियम तोड़कर किया निर्माण
ratlam

vikram ahirwar | Updated: 15 Jan 2017, 12:35:00 AM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

अफसरों पर भड़के व्यापारी

रतलाम। शहर में बिना पार्किग और अनुमति से ज्यादा निर्माण वाले व्यावसायिक भवनों को नोटिस जारी करने के बाद शनिवार को नगर निगम दल ने एक दर्जन स्थलों पर लाइनिंग कर दी। प्रमुख बाजारों में बने इन भवनों में से ज्यादातर मानक पार्किग वाले नहीं मिले। वहीं, अनुमति से ज्यादा निर्माण भी पाया गया है। अब इन भवन मालिकों को तीन दिन का अल्टीमेट दिया गया है। इस अवधि के बाद निगम खुद मोर्चा संभालेंगा और अवैध निर्माण हटा दिए जाएंगे। इसका खर्च भी भवन मालिकों से ही वसूलेंगे।
 शहर में कलेक्टर बी चंद्रशेखर के आदेश के बाद नगर निगम ने प्रशासन से चर्चा के बाद 20 व्यावसायिक भवन मालिकों को नोटिस जारी किए थे। करीब 24 दिन चली कवायद के बाद आखिरकार निगम ने सभी भवनों का सर्वे कर लाइनिंग पूरी कर दी। शनिवार को अब तक का सबसे बड़ा निरीक्षण करते हुए एक ही दिन में करीब 12 व्यावसायिक भवनों और मार्केट का सर्वे कर लाल निशान लगा दिए हैं। हालांकि निगम दल की कार्रवाई को लेकर व्यवसायियों और दुकानदारों ने नाराजगी जताई है। निरीक्षण के दौरान कुछ व्यापारियों ने इस तरह की कार्रवाई अन्य स्थानों पर भी करने एवं कार्रवाई के दौरान दुकनदारों का पक्ष सुनने की मांग की। निगम के अधिकारियों ने व्यापारियों के विरोध को नजरअंदाज करते हुए तीन दिन का अल्टीमेटम दे दिया है। दल के निरीक्षण के दौरान घासबाजार, हरदेवलाला की पीपली और सैलाना रोड पर व्यावसायिक भवनों में पार्किग तो दर्शाई मिली, लेकिन मौके पर वाहन नहीं दिखे। पाकिंग को पहले तल पर भीतर बता दिया गया, जबकि वहां वाहन नहीं जा सकते। कुछ वाहन दुकानदारों के ही खड़े मिले। ग्राहकों के वाहन तो सड़क और पास की दुकानों के आसपास खड़े थे। ऐसे में इन भवन मालिकों को भी तीन दिन के अंदर मानक पार्किग तैयार करने के लिए कहा गया। इस पर दुकानदारों ने सहमति जता दी।
नीमचौक और घास बाजार में कार्रवाई के दौरान निगम दल को व्यापारियों के विरोध का सामना करना पड़ा। व्यापारियों ने दुकानों तक लाइनिंग को गलत ठहराया तो अधिकारियों ने साफ कर दिया कि दस्तावेजों का मिलान कर लें। अनुमति और मौके पर किया निर्माण अलग है। पार्किंग तो नियमानुसार चाहिए।
यहां लाल निशान
अल अजीज मार्केट, एके प्लाजा, निखार मार्केट, गणेश मार्केट, चौरडिय़ा मार्केट, मारुति मार्केट, सैफी मार्केट, अल रहमत मार्केट, अनोखीलाल कॉम्प्लैक्स सहित अन्य भवन।
यहां चली कार्रवाई
घासबाजार, तोपखाना, हरदेवलाला की पीपली, नीमचौक, चांदनीचौक, सैलाना रोड और कस्तूरबा नगर रोड।
अब तक ये
निगम ने कलेक्टर के आदेश के बाद पूर्व में जारी नोटिस वाले सभी 20 भवनों का सर्वे कर लाइनिंग कर दी है। इनको पार्किंग व एमओएस के नोटिस दिए थे।
अब ये होगा
निगम अपनी लाइनिंग की रिपोर्ट से कलेक्टर को अवगत कराएगा। कलेक्टर के निर्देश के बाद एमओएस पर निर्माण हटाने व पार्किंग संबंधी निर्णय लिया जाएगा।
कार्रवाई की जाएगी
हमने कलेक्टर के आदेश के तहत व्यावसायिक भवनों में पार्किग और एमओएस को लेकर निरीक्षण किया है। ज्यादातर भवनों में मानक पार्किग नहीं है। वहीं, एमओएस का पालन भी नहीं किया गया है। तीन दिन का समय दिया है। इस अवधि के बाद कलेक्टर के निर्देशानुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी।
- नागेश वर्मा, कार्यपालन यंत्री नगर निगम रतलाम
Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned