scriptSmart meters in 40 thousand houses out of 85 thousand in Ratlam | Ratlam में 85 हजार में से 40 हजार घर में स्मार्ट मीटर | Patrika News

Ratlam में 85 हजार में से 40 हजार घर में स्मार्ट मीटर

समकक्ष शहरों में रतलाम ने बढ़ाई बढ़त

रतलाम

Published: December 24, 2021 12:15:27 pm

रतलाम. स्मार्ट योजना से रतलाम शहर स्मार्ट बन रहा है, दरअसल शहर ने संभाग में स्मार्ट मीटर लगाने की गति में अपने समकक्ष शहरों में बढ़त बना रखी है। नए वर्ष की शुरूआत तक रतलाम शहर का चिन्हांकित करीब 85 फीसदी इलाका स्मार्ट मीटर से पट जाएगा। इस मीटर के बाद बिजली कंपनी की विद्युत सप्लाई व्यवस्था घरों तक और सुरक्षित होगी। अब तक शहर में 85 हजार से अधिक घर में से 40 हजार घर में स्मार्ट मीटर लग गए है।
Old Meters Holiday Now new smart meters will be installed
Old Meters Holiday Now new smart meters will be installed
रतलाम में लगा नाइट कफ्र्यू, दुबई से आया युवक निकला कोरोना पॉजिटिव

रेडियो फ्रिक्वेंसी स्मार्ट मीटर


मप्र पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा शहरों में स्मार्ट मीटर लगाने का कार्य तेज किया गया है। इंदौर के अलावा पांच अन्य शहर क्रमश: महू, रतलाम, उज्जैन, खरगोन, देवास में अब तक एक लाख दस हजार रेडियो फ्रिक्वेंसी स्मार्ट मीटर लगाए गए है। वर्तमान में यह कार्य तेजी से चल रहा है। इंदौर के बाद अगर किसी शहर में सबसे अधिक मीटर लगाए गए है तो वो रतलाम है।
गीजर का उपयोग बढ़ाएगा आपका बिजली बिल

तेजी से चल रहा

इंदौर शहर में 1.20 लाख स्मार्ट मीटर सर्वप्रथम लगाए गए थे। इसके बाद 10 किलो वाट से उपर के उपभोक्ताओं के यहां 20 हजार मीटर और लगाए जा रहे है। स्मार्ट मीटरीकरण का यह कार्य विभागीय तौर पर तेजी से चल रहा है। इंदौर के अलावा महू शहर पूरी तरह स्मार्ट मीटरीकृत हो गया है। यहां पंद्रह हजार स्मार्ट मीटर लगाए गए है।
Ratlam लॉजिस्टिक हब निर्माण कार्य में आई तेजी

यहां लग गए 40 हजार

अन्य शहरों में रतलाम में सबसे ज्यादा 40 हजार स्मार्ट मीटर लगाए गए है। स्मार्ट मीटरीकरण के लिए बिजली कंपनी स्तर से नोडल अधिकारी हर माह शहरों का निरीक्षण कर कार्य प्रगति एवं लक्ष्यापूर्ति की समीक्षा कर रहे हैं।
किसान आंदोलन : रेल मंडल की 3 ट्रेन निरस्त, 11 ट्रेन शॉर्ट टर्मिनेट

इसलिए है बेहतर

असल में स्मार्ट मीटर लगाने का बड़ा लाभ यह हैकि मीटर रीडरों पर निर्भरता पूरी तरह खत्म हो जाएगी। इसके अलावा हर माह एक तारीख को ही सभी की रीडिंग हो जाएगी। किस उपभोक्ता ने कितनी खपत की उसका स्तर क्या रहा इस प्रकार की आटोमेटेड जानकारी स्मार्ट मीटर से मिलेगी। सबसे बड़ी बात यह है उपभोक्ताओं के अपने मोबाइल पर ही स्मार्ट मीटर लाइव नजर आ जाएंगे। कोरोना काल की तीसरी लहर के बीच लाक डाउन, कर्फ्यू, करोना काल में बहुत ही कारगर साबित यह स्मार्ट मीटर होंगे।
एबीवीपी का जोरदार प्रदर्शन, कॉलेज में जमकर हंगामा किया

बेहतर कार्य रतलाम में हो रहा

बड़े शहरों की आपस में तुलना की जाए तो रतलाम में बेहतर कार्य स्मार्ट मीटर लगाने में हो रहा है। 85200 शहर के उपभोक्ताओं में अब तक 40 हजार स्मार्ट मीटर लगाए जा चुके है। नए वर्ष की शुरुआत में काम में और तेजी आएगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.