सुनवाई नहीं हुई तो कोर्ट प रिसर में खाया जहर, शिकायत लेकर भटक रहा था युवक

सुनवाई नहीं हुई तो कोर्ट प रिसर में खाया जहर, शिकायत लेकर भटक रहा था युवक

Yggyadutt Parale | Updated: 14 Jun 2019, 05:25:24 PM (IST) Ratlam, Ratlam, Madhya Pradesh, India

सुनवाई नहीं हुई तो कोर्ट प रिसर में खाया जहर, शिकायत लेकर भटक रहा था युवक

रतलाम। दोपहर करीब एक बजे कोर्ट परिसर में उस समय हड़कंप मच गया जब पत्नी के साथ शिकायत करने के लिए आए एक युवक ने जहरीली वस्तु खा ली। अचानक हुए घटनाक्रम से हर कोई सन्न रह गया और तुरत-फुरत युवक को १०० डायल के माध्यम से जिला अस्पताल पहुंचाया गया। युवक की पत्नी का कहना है कि लपटिया गांव का निवासी जो वन विभाग में चौकीदार है वह आए दिन परेशान करता है और पुलिस भी उनकी सुनवाई नहीं कर रही है। युवक ने कोर्ट परिसर में क्या खाया यह पत्नी भी नहीं बता पा रही है। दपंति कमेड़ गांव के निवासी हैं। पत्नी का कहना है कि उसने केरोसीन पीया है जबकि डॉक्टरों का कहना है कि जहरीली वस्तु खाई है।

किसको शिकायत देना नहीं था कोई पता

कोर्ट परिसर में जहरीली वस्तु खाने वाला मुकेश पिता बद्री भूरिया है। यह अपनी पत्नी कलाबाई के साथ कोर्ट परिसर में पहुंचा था। यहां वह किसी को शिकायत देने की बात कर रहे हैं लेकिन किसको शिकायत देना है यह उन्हें भी पता नहीं है। पत्नी कलाबाई के अनुसार लपटिया गांव का शंकरलाल मोगिया उन्हें आए दिन परेशान करता रहता है। शंकर वन विभाग में चौकीदार है और जंगल में ही रहता है। पिछले दिनों ही वह जंगल में लकडिय़ां बिनने गई थी तब शंकर ने अभद्रता की थी। बाद में उसके पति मुकेश से भी शंकर का विवाद हुआ था जिसकी बाद में उसने पुलिस में शिकायत कर दी।

वन विभाग की जमीन पर झौंपड़ी
मुकेश और उसकी पत्नी के पास गांव में कोई मकान नहीं है। उन्होंने वन विभाग की जमीन पर झौंपड़ी बना ली थी जिसे गुरुवार को वन विभाग के अमले ने तोड़ दिया था। इसकी शिकायत बिलपांक पुलिस चौकी पर जाकर दर्ज कराई तो किसी ने नहीं सुनी। हम इसी बात की शिकायत करने के लिए रतलाम आए थे। पूर्व में भी शिकायत की गई लेकिन सुनवाई नहीं हुई। पीडि़त की पत्नी कलाबाई के अनुसार उनके पास रहने को घर नहीं है और न ही बीपीएल का कूपन ही बना है। गैस कनेक्शन गांव में कई लोगों को मिले लेकिन उन्हें नहीं मिलने से वे लकडिय़ां बिनकर खाना बनाती है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned