बस संचालकों में हड़कंप, मध्यप्रदेश के इस जिले में टैक्स डिफॉल्टर कई बसें जब्त

जिला परिवहन विभाग की कार्रवाई 6 बसें, 28 रुपए बकाया, दो मैजिक, एक आटो पर 14 हजार की चालानी कार्रवाई की

By: Gourishankar Jodha

Updated: 22 Dec 2019, 11:57 AM IST

रतलाम। मध्यप्रदेश के रतलाम जिले में बगैर टैक्स भरे बसे दौड़ रही है, जैसे ही जिला कार्यालय परिवहन मंत्री एवं परिवहन आयुक्त के निर्देश पहुंचे। जिला परिवहन अधिकारी ने धड़पकड़ शुरू की और जिले के अलग-अलग स्थानों से बगैर टैक्स भरे परिवहन करते पाई गई बसों को जब्ती में लेकर कार्यालय पहुंचाया। कार्रवाई को देख बस संचालकों में हड़़कंप मच गया। इन छह बसों पर 11 लाख रुपए का टैक्स बकाया है। शिवगढ़ से एक बस एमपी 43 पी-0161 नंबर के चालक को बस रोकने का कहा, जिस पर बस चालक द्वारा बस को भगाकर रावटी रोड पर छुपाकर खड़ी कर दी थी, जिसे बाद में पीछाकर कब्ज़े में लिया गया। बसों को छुड़ाने के लिए बस ऑपरेटरों द्वारा अधिकारियों कर्मचारियों से कर छुड़ाने का प्रयास करते हुए बहस भी गई, किन्तु आरटीओ बसों को जब्त करते हुए जिला कार्यालय पहुंचाया।

परिवहन मंत्री एवं परिवहन आयुक्त के निर्देश
आरटीओ दीपककुमार मांझी के उपस्थिति में बाजना बस स्टैंड रतलाम, शिवगढ़, रावटी एवं बाजना क्षेत्र में कार्रवाई की गई। जिसमें बगैर टैक्स भरे चल रही ६ बसे जब्त करते हुए 3 मैजिक एवं 1 ऑटो को भी जब्त कर 14000 का चालानी कार्रवाई की गई। उल्लेखनीय है कि परिवहन मंत्री एवं परिवहन आयुक्त के निर्देशानुसार शनिवार को रतलाम में परिवहन माफियाओं के विरुद्ध कार्रवाई शुरू की गई। टैक्स डिफॉल्टर 6 बसों को जब्त करके परिवहन कार्यालय में रखी गई। जिन पर लगभग 11 लाख का टैक्स बकाया है। इसके साथ ही बिना परमिट बस भी जब्त की गई। कार्रवाई में आरटीओ मांझी, सैलाना प्रभारी वर्मा, डीएल सोलंकी, महेशपाल बाबू, राकेश जगताप आदि शामिल थे। नामली से पकड़ी गई बस क्रमांक आरजे 04-2152 के मालिक द्वारा अब तक टैक्स जमा नहीं कराने पर जब्ती में पड़ी हुई है।

बगैर टैक्स भरे चल रही छह बसें जब्त की, 11 लाख वसूले जाएंगे
परिवहन मंत्री एवं परिवहन आयुक्त के निर्देशानुसार पूरे प्रदेश में अभियान चल रहा, अगले सप्ताह यहां पर भी ट्रांसपोर्ट कमिश्रर के साथ मिलकर कार्रवाई की जाएगी। वरिष्ष्ठालय को भी सूचित कर दिया है। टैक्स नहीं भरने वाले डिफाल्टरों को पहले भी चेतावनी दी गई थी, किन्तु टैक्स जमा नहीं कराने पर शासन को लाखो रुपए का चूना लगाया जा रहा था। अब इन्हे छोड़ा नहीं जाएगा और सख्त कार्रवाई की जाएगी। चालू बसों पर करीब 28 लाख रुपए रोड टैक्स बकाया है, जिन बसों को पकड़ा उनसे 11 लाख रुपए की वसूली की जाएगी।
दीपककुमार मांझी, जिला परिवहन अधिकारी, रतलाम

Gourishankar Jodha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned