पंजाब से अगवा हुई किशोरी रतलाम में बेचा

पंजाब से अगवा हुई किशोरी रतलाम में बेचा

kamal jadhav | Updated: 27 Jul 2019, 11:04:30 AM (IST) Ratlam, Ratlam, Madhya Pradesh, India

पंजाब से अगवा हुई किशोरी रतलाम में बेचा

रतलाम। माता-पिता से विवाद होने के बाद घर से भागी पंजाब के गुरुदासपुर की १७ वर्षीय किशोरी अमृतसर पहुंच गई। यहां एक महिला ने उसकी मदद के बहाने उसे नशीला पदार्थ खिलाकर अगवा किया और प्रतापगढ़ के चकुंडा निवासी एक युवक को एक लाख रुपए में बेच दिया। इसने भी इसमें फायदा उठाते हुए रतलाम के बरवड़ निवासी एक अन्य युवक से एक लाख ४० हजार रुपए में उसकी शादी करवा दी। किशोरी को ढूंढती हुई पंजाब की पुलिस पिछले दिनों से रतलाम में ही डेरा डाले हुए थी और आखिरकार गुरुवार को दोनों आरोपियों को धरदबौचा। इन्हें रतलाम में न्यायालय में पेश किया जहां से ट्रांजिट रिमांड पर २८ तक पंजाब पुलिस को सौंप दिया गया।

16 जून को हुई थी किशोरी अगवा
पंजाब पुलिस की सब इंस्पेक्टर दीपिका और एएसआई हरनामसिंह दो दिन से रतलाम में डेरा डाले हुए थे। सब इंस्पेक्टर दीपिका ने बताया 17 साल की किशोरी गुरदासपुर की निवासी है और माता-पिता से छोटी-मोटी बात पर विवाद होने से घर छोड़कर चली गई और अमृतसर पहुंच गई। यहां पर उसे कंवलजीत कौर नामक महिला मिली जिसने सहानुभूति जताते हुए उसे नशीला पदार्थ खिलाकर बेहोश कर दिया। 16 जून को वह अमृतसर से अगवा करके किशोरी को चकुंडा राजस्थान के दलाल सत्यनारायण पिता द्वारकादास को एक लाख रुपए में बेच दिया। दलाल सत्यनारायण ने कुछ समय बाद ही किशोरी का रतलाम के बरवड़ निवासी मनीशकुमार पिता शंकरलाल पोरवाल जो इस समय अंजनीधाम में रहता है। उससे किशोरी की एक लाख ४० हजार रुपए में शादी करवा दी।

राजनीतिक दबाव से दौड़ी पंजाब पुलिस
गुरदासपुर में किशोरी की गुमशुदगी दर्ज होने के बाद पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की। बताया जाता है कि किशोरी के परिजनों का राजनीतिक परिवार से काफी अच्छे रिश्ते होने से पुलिस पर खासा दबाव बना तो पुलिस ने किशोरी को ढूंढने में तेजी दिखाई। इसी दौरान पंजाब पुलिस को सूचना मिलने पर पुलिस रतलाम पहुंची और औद्योगिक थाना क्षेत्र पुलिस से मदद मांगी। पंजाब पुलिस ने रतलाम के औद्योगिक क्षेत्र पुलिस के सब इंस्पेक्टर जितेंद्रसिंह जादौन, कांस्टेबल नीलेश पाठक और हेमेंद्रसिंह की मदद से किशोरी, उसके कथित पति मनोज कुमार और दलाल सत्यनारायण को शुक्रवार को धरदबौचा। इन्हें शाम को ही न्यायालय मे पेश किया जहां से दोनों आरोपियों को २८ जुलाई तक ट्रांजिट रिमांड पर पंजाब पुलिस को सौंप दिया।
युवती ने भाई को किया मैसेज तो हुआ खुलासा

अपहृत युवती ने इस दौरान यहां से कथित ससुराल के किसी सदस्य का मोबाइल फोन लेकर पंजाब में अपने भाई को मैसेज किया। उस मैसेज के जरिए गुरुदासपुर पुलिस ने लोकेशन ट्रेस की और खोज करते हुए रतलाम पहुंच गई। रतलाम में किशोरी और उसके कथित पति को गिरफ्तार करने के बाद बाद में चकुंडा पहुंची और दलाल को गिरफ्तार कर लिया। अरनोद थाना प्रभारी धर्मसिंह मीणा ने बताया यहां कोटड़ी पुलिस चौकी के पुलिसकर्मियो की सहायता से वहां से भगाकर लाने वाले आरोपी को भी गिरफ्तार कियाा है।

अरनोद पुलिस ने भी किया सहयोग
अरनोद थाना प्रभारी मीणा ने बताया कि चकुंडा का सत्यनारायण पुत्र द्वारकादास बैरागी के घर में पंजाब से गुम हुई बालिका होने की पंजाब पुलिस को सूचना मिली थी। जिस पर पंजाब पुलिस ने अरनोद थाना क्षेत्र के कोटड़ी एवं अरनोद पुलिस की सहायता से चकुंडा के घर में दबिश दी। जहां सत्यनारायण बैरागी के घर में उक्त लड़की पाई गई। कार्रवाई में कोटड़ी चौकी प्रभारी करण सिंह, सिपाही सुनीलकुमार, शिवराज व पंजाब पुलिस मौजूद रहे। इस युवती 17 वर्ष की है जो नबीपुर कॉलोनी, पुलिस थाना सदर, गुरदासपुर पंजाब की है। पंजाब पुलिस ने सत्यनारायण को गिरफ्तार किया। युवती को अपने साथ ले गई।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned