विश्व रक्तदाता दिवस पर जीवन बचाने का जज्बा

विश्व रक्तदाता दिवस पर जीवन बचाने का जज्बा

Sachin Trivedi | Updated: 14 Jun 2019, 01:45:17 PM (IST) Ratlam, Ratlam, Madhya Pradesh, India

रतलाम अकाउंटेंट्स एसोसिएशन के साथ रक्तदान शिविर

रतलाम. विश्व रक्तदाता दिवस पर रतलाम शहर में पत्रिका और रतलाम अकाउंटेंट्स एसोसिएशन के संयुक्त तत्वावधान में रक्तदान शिविर लगाया गया। जिला अस्पताल की ब्लड बैंक में शिविर के दौरान करीब 50 यूनिट रक्त एकत्रित कर आधुनिक फ्रीजर में जमा कराया गया। इस दौरान स्वैच्छिक संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ ही बड़ी संख्या में अन्य नागरिकों, युवाओं और एसोसिएशन के सदस्यों व पत्रिका परिवार की ओर से भी रक्तदान किया गया।

patrika

फीता काटकर शिविर की शुरूआत
जिला अस्पताल के ब्लड बैंक में रक्तदान शिविर की शुरूआत प्रभारी सिविल सर्जन डॉ. महेश मौर्य एवं रतलाम पत्रिका के संपादक हरिनाथ द्विवेदी के साथ एसोसिएशन के संयोजन मनोज शर्मा ने फीता काटकर की। 'पत्रिकाÓ के आव्हान पर रक्तदान शिविर प्रात: 9 से 12 बजे तक चला। रतलाम अकाउंटेंट एसोसिएशन के संयोजक मनोज शर्मा ने बताया कि रक्तदान महादान है और इससे किसी का जीवन बचाया जा सकता है। रक्तदाता दिवस पर हम सभी जीवन बचाने के इस अभियान में शामिल होकर रक्तदान कर रहे है।

patrikapatrika

एक व्यक्ति में साढ़े पांच लीटर रक्त
एक स्वस्थ व्यक्ति में करीब पांच से साढ़े पांच लीटर रक्त होता है। यह व्यक्ति के वजन, ऊंचाई और उसकी उम्र के मान से थोड़ा कम ज्यादा हो सकता है। रक्तदान के दौरान 350 मिली लीटर रक्त लिया जाता है। इस लिहाज से जिले में अप्रैल 2018 से मार्च 2019 तक 8002 यूनिट का रक्त जिला अस्पताल की ब्लड बैंक को मिला है। व्यक्ति के शरीर से 350 मिली लीटर रक्त निकालने से कोई फर्क नहीं पड़ता वरन शरीर इसकी पूर्ति तीन से चार माह के भीतर फिर से कर लेता है।

patrikapatrika

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned