मानसून की पहली बारिश ने छीना बूढ़े माता-पिता व बच्चों का सहारा

माता-पिता का साया उठने से बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल

 

By: sachin trivedi

Published: 01 Jul 2019, 01:53 PM IST

रतलाम. मानसून की पहली बारिश ने समीपस्थ ग्राम लूनी में बूढ़े माता-पिता व बच्चों का सहारा छीन लिया है। रविवार को हुई झमाझम बारिश में नाले में बहने से पति-पत्नी की मौत हो गई है। पुलिस व गोताखोरों ने सोमवार नाले में उतरकर काफी मशक्कत के बाद दोनों की लाश को निकाला। अपने बहू-बेटे की मौत से बुर्जुग माता-पिता व माता-पिता का साया उठने से बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल है। इस घटना से गांव का माहौल गमगीन हो गया। मृतक के पिता रामेश्वर मोदी (68 वर्ष) ने बताया कि रविवार के सुबह खेत पर कांटे साफ करने के लिए पुत्र भंवरलाल (34 वर्ष) व बहू गायत्रीदेवी (32 वर्ष)खेत पर गए थे। रात तक नहीं लौटे तो हमने खोजबीन की पानी अधिक गिरने के कारण खेत पर नहीं जा पाए हमने रिश्तेदारों से भी पूछताछ की लेकिन वे कहीं नहीं मिले। इस पर हमें शंका हुई खेत व घर आने के रास्ते में एक बड़ा नाला आता है। उसको पार करने में वे कहीं बह तो नहीं गए है।

patrika

नाले के समीप एक कुल्हाड़ी मिली
इस पर सुबह ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। इस पर पुलिस दल गोताखोरों के साथ मौके पर पहुंचे तो नाले के समीप एक कुल्हाड़ी मिली। इससे यह तय हो गया कि वे दोनों नाले में बह गए हैं। इस पर पुलिस ग्रामीणों व गोताखोरों ने उनकी खोजबीन शुरू की। काफी मशक्कत के बाद दोनों की लाश नाले से निकाली। दोनों को शव बाहर आते ही वृद्ध माता रामकुंवर बाई बेहोश हो गई। गांव का माहौल गमगीन हो गया। पुलिस ने दोनों के शव पीएम के किए खारवाकलां सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाए। जहां पर पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिए।

 

 

 

patrika

बुजुर्ग माता-पिता का इकलौता बेटा था भंवरलाल
लूनी निवासी रामेश्वर मोदी के भंवरलाल इकलौता बेटा था। इस हादसे ने उनके बुढ़ापे की लाठी व बेटे-बेटी के सिर से माता पिता का साया छीन लिया है। इसके आठ वर्षीय लडक़े व छह वर्षीय लडक़ी की पालन पोषण की जिम्मेदारी इन बूढ़े कंधों पर आ गई है।

रोड निर्माण कंपनी ने खोद दिए थे गड्ढे
इस नाले पर सडक़ निर्माण कंपनी ने सडक़ निर्माण शुरू किया था। इसके लिए उन्होंने मिट्टी के लिए नाले में बड़े-बड़े गड्ढे खोद दिए थे। उन गड्ढों में दोनों के डूबने से मौत हो गई। शव निकालने में परेशानी हुई। एसआई दुलेसिंह डावर (65 वर्ष) ने 20 फीट गहरे पानी से भंवर का शव निकाला।

sachin trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned