scriptThere was a loud bang and then what happened... | जोरदार धमाका हुआ और फिर जो हुआ वह... | Patrika News

जोरदार धमाका हुआ और फिर जो हुआ वह...

गांव रत्तागढख़ेड़ा में सुबह सिंचाई करने के लिए मोटर चालू करने गए युवक की हादसे में दर्दनाक मौत

रतलाम

Updated: January 05, 2022 02:39:05 pm

रतलाम।
जिला मुख्यालय से करीब 30 किमी दूर ग्राम रत्तागढख़ेड़ा में मंगलवार की सुबह करीब साढ़े आठ बजे हुए टटोनेटर हादसे में किसान लालसिंह पिता नरसिंह कतिजा ३५ की दर्दनाक मौत हो गई। युवक अपने खेत पर सिंचाई के लिए मोटर चालू करने गया था और जैसे ही उसने मोटर के स्टार्टर का स्वीच ऑन किया वैसे ही जोरदार धमाका हुआ और युवक की खोपड़ी और एक हाथ का पंजा उड़ गया। खोपड़ी और हाथ का पंजा घटनास्थल से करीब ४०-५० फीट दूर जाकर गिरे। युवक का शव भी दस से १५ फीट दूर चला गया। मौके पर ढाई से तीन फीट गहरा गड्डा हो गया।

जोरदार धमाके के साथ युवक की खोपड़ी उड़ गई
जोरदार धमाके के साथ युवक की खोपड़ी उड़ गई
हत्या की आशंका में परिजनों ने जताया आक्रोष
मृतक लालसिंह के भाई नंदराम और मुकेश ने बताया कि किसी ने जानबुझकर डेटोनेटर स्टार्टर के नीचे कनेक्शन करके छिपाकर रख दिया था। यह सीधी-सीधी हत्या करने का षड्यंत्र था। इसी आशंका के चलते मौके से ग्रामीणों ने पुलिस को शव नहीं उठाने दिया। ग्रामीणों का कहना था कि यह साजिश है और जिसका भी इसमें हाथ है उसे तुरंत गिरफ्तार किया जाए। रतलाम ग्रामीण एसडीओपी संदीप निगवाल, टीआई दीपक शेजवार सहित अन्य पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे थे। बड़ी मशक्कत से समझाइश के बाद दोपहर करीब एक बजे शव को जिला अस्पताल लाकर पोस्टमार्टम कराया गया।

दूर जा गिरी खोपड़़ी
परिजनों ने बताया कि रात में बिजली नहीं होने से सभी किसान खेत से घर आ जाते हैं। अगले दिन सुबह बिजली आती है तो सभी किसान अपने-अपने खेत पर जाकर सिंचाई करने लगते हैं। मंगलवार को भी मृतक लालसिंह बिजली आने पर खेत पर गया था। इसी दौरान यह भयानक हादसा हो गया। किसान का शव क्षत-विक्षत हो गया शरीर के टुकड़े होकर दूर-दूर जा गिरे थे। जिस जगह हादसा हुआ वहां डेढ़ से दौ फीट गहरा और कमोबेश इतना ही चौड़ा गड्ढा बन गया है। परिजनों के अनुसार स्टार्टर जमीन पर ही रखा था। पास में ट्यूबवेल में लगी मोटर इसी से चालू कर सिंचाई करते हैं।
छह माह पहले भी हो चुकी है ऐसी घटना
रत्तागढख़ेड़ा गांव में करीब छह माह पहले भी एक पूर्व सरपंच भंवरसिंह के साथ इसी तरह की घटना हो चुकी है। किस्मत से वे बच गए थे। ग्रामीणों का कहना है कि जिस जगह उस समय विस्फोट हुआ था वहां पेड़ था और पेड़़ की जड़ों की वजह से विस्फोट इतना घातक नहीं हुआ। मंगलवार को हुई घटनास्थल से महज पांच सौ मीटर की दूरी पर ही छह माह पहले यह घटना हुई थी। हालांकि इस दुर्घटना में वे भी बुरी तरह घायल हो गए थे। मंगलवार की घटना के बाद एफएसएल अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और साक्ष्य जुटाए हैं। इनका विश्लेषण करने के बाद ही किसी नतीजे पर पहुंचा जा सकेगा।

दो-तीन किमी दूर तक सुनाया धमाका
ग्रामीणों का कहना है कि मृतक का खेत गांव से करीब डेढ़ किमी दूर है। गांव में तो धमाके की जोरदार आवाज सुनाई दी ही थी। साथ ही आसपास के करीब पांच किमी दायरे में आने वाले गांवों में भी धमाका सुनाई दिया था। ग्रामीणों को पता चलने पर बड़ी संख्या में लोग दुर्घटनास्थल पहुंच गए थे।
--------------
डेटोनेटर और जिलेटिन का उपयोग विस्फोट में डेटोनेटर और जिलेटिन के उपयोग की प्रारंभिक जानकारी सामने आ रही है। घटनास्थल से कुछ साक्ष्य एकत्रित किए गए हैं। इनका एनालिसिस करने के बाद ही किसी नतीजे पर पहुंचेंगे।संदीप कुमार निगवाल, एसडीओपी, रतलाम ग्रामीण
------------------
सायबर और फारेंसिक टीम लगी हुई
फिलहाल इस मामले में कोई क्लू सामने नहीं आया है। संभवत: यह आपसी रंजिश का मामला हो सकता है। सायबर और फारेंसिक की टीमें लगी हुई है। मौके से जो साक्ष संकलित किए हैं उनका अध्ययन किया जा रहा है।
गौरव तिवारी, एसपी, रतलाम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कोरोना: शनिवार रात्री से शुरू हुआ 30 घंटे का जन अनुशासन कफ्र्यूशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेCM गहलोत ने लापरवाही करने वालों को चेताया, ओमिक्रॉन को हल्के में नहीं लें2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.