प्रदेश की इस ए ग्रेड की मंडी में एक माह के अंदर तीसरी बार चोरी

प्रदेश की इस ए ग्रेड की मंडी में एक माह के अंदर तीसरी बार चोरी

By: Gourishankar Jodha

Published: 10 Mar 2019, 05:17 PM IST

रतलाम। कृषि उपज मंडी महू-नीमच रोड पर आए दिन चोरी होने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। एक माह में यह तीसरी चोरी है। इसमें दो बार तो दिन दहाड़े चोरी गई और एक रात में चोर रायड़ा पर हाथ साफ कर गए। शनिवार को दोपहर रमेश नामक हम्माल व्यापारी लबीना ट्रेडर्स के यहां से चने की बोरी चुराकर मोटर सायकल पर से जा रहा था। तभी सुरक्षाकर्मी भूपेंद्रसिंह राठौर ने वाहन चालक को रोका तो पुछने पर उसने सोयाबीन होना बताया। शंका होने पर उसके बोरे को देखा तो उसमें चने निकले। हम्माल को मंडी गेट पर बिठाकर मंडी कर्मचारियों ने सालाखेड़ी पुलिस को बुलाया। पुलिसकर्मियों ने मौके पर पहुंचकर हम्माल को लेकर थाने गई।
ज्ञात रहे कि इसके पूर्व भी दो हम्माल दिन दहाड़े सुरक्षाकर्मी के सामने डालर चने की बोरी ले गए थे। इसके बाद उन्हे मोटर सायकल नंबर ट्रेस कर पकड़ा गया। इसके बाद मंडी व्यापारी के गोडाउन को फोड़कर ६ बोरी रायड़ा चोरी हो गया। जिसका आज तक पता नहीं चला। हालत इतने खराब और चोरों को रात किसानों की उपज के साथ उनके वाहनों के उपकरण चोरी के साथ अब दिन में भी खुलेआन चोरी करने के हौंसले बुलंद हो गए। यहां जितनी भी चोरी हुई अब तक हम्माल ही पकड़ाए गए है। पिछले दिनों डालर चने की चोरी में भी दो हम्मालों को गिरफ्तार किया गया। जिन्होंने डालर चने 3400 रुपए क्विंटल के भाव से गायत्री टाकीज स्थित एक व्यापारी को बैचना कबूल किया। इसके बाद रायड़ा चोरी में भी उन्हे पूछताछ के लिए लाया गया, लेकिन चोरी का पता नहीं चला और मंडी में फिर से दिन दहाड़ चोरी के प्रयास में एक हम्माल धरा गया।

सब्जी मंडी का दूसरा गेट अनुपयोगी
सैलाना बस स्टैंड सब्जी मंडी में बनाया गया, दूसरा गेट भी अनुपयोगी है, उस पर वाहनों के आने जाने के दौरान कभी भी हादसा होने के डर से उपयोग नहीं किया जाता। लाखों रुपए खर्च कर बनाए गए गेट और रूमों उपयोग नहीं है। यहां तक की मंडी गेट पर बनाए गए अमानक स्तर के काउकेचर कई बार टूट फूट गया को लेकर भी कई बार मंडी सचिव ने इंजीनियर को सुधारने की बात कही, फिर स्थिति जस की तस बनी हुई है।

Gourishankar Jodha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned