हैरिटेज ट्रेन में मिलने वाली है ये बड़ी सुविधा, पढ़कर खुश हो जाओगे आप

हैरिटेज ट्रेन में मिलने वाली है ये बड़ी सुविधा, पढ़कर खुश हो जाओगे आप

Ashish Pathak | Updated: 16 Jul 2019, 09:00:00 AM (IST) Ratlam, Ratlam, Madhya Pradesh, India

अगले माह से मिलेगी रेस्ट हाउस की सुविधा, हैरिटेज ट्रैक पर रात बिताने का मामला, तैयारी के लिए डीआरएम ने किया कालाकुंड पातालपानी का निरीक्षण

रतलाम। रेल मंडल के कालाकुंड-पातालपानी हैरिटेज ट्रैक पर रेल डिब्बे व आईआरसीटीसी द्वारा बनाए गए रेस्ट हाउस की शुरुआत अगले माह से होगी। इसके लिए मंडल के डीआरएम आरएन सुनकर ने दूसरी बार निरीक्षण किया है। पर्यटक वाले इस स्थान पर आईआरसीटीसी को जमीन दे दी गई है। उसने रेस्ट हाउस के लिए कार्य की शुरुआत कर दी है। यहां पर पर्यटक परिवार के साथ रात बिता सकेंगे। इसके अलावा विशेष डिब्बों में भी ये सुविधा मिलेगी। इतना ही नहीं, छूकछूक कर चलने वाले भांप के इंजन की शुरुआत भी अगले माह से होगी।

 heritage train

बता दे कि वर्ष 2018 में 25 दिसंबर से पश्चिम रेलवे की प्रतिदिन चलने वाली पहली हैरिटेज ट्रेन की शुरुआत हुई थी। अप्रैल माह में इसको गर्मी व पर्यटकों की संख्या कम देखते हुए सप्ताह में एक बार चलाने का निर्णय लिया गया था। इसके बाद गत माह जून माह में इसको नियमित किया है। फिलहाल शनिवार व रविवार को सामान्य दिनों की अपेक्षा अधिक यात्री रेलवे को मिल रहे है। अधिकारियों के अनुसार बेहतरी बारिश होने व झरने की शुरुआत होने की वजह से कई बार तो ये स्थिति हो रही है कि यात्री अधिक होने व ट्रेन में पर्याप्त स्थान होने की वजह से दो से तीन दिन बाद की बुकिंग करना पड़ रही है।

जेब ढ़ीली करना होगी रात के लिए

रेलवे यात्रियों को हैरिटेज ट्रैक पर रेस्ट हाउस से लेकर ट्रेन के डिब्बे में रात बिताने की सुविधा तो अगस्त माह से देगा, लेकिन इसके लिए यात्रियों को अपनी जेब भी अतिरिक्त ढ़ीली करना होगी। इसके लिए रेलवे ने डिब्बे में रात बिताने के लिए प्रतियात्री 1100 रुपए तो रेस्ट हाउस का प्रतियात्री 2100 रुपए से लेकर 5100 रुपए तक किराया तय करने का मन बनाया है। फिलहाल किराए की राशि पर अंतिम निर्णय होना शेष है।

 heritage train

छूकछूक इंजन आएगा

अधिकारियों के अनुसार अगस्त माह तक भांप से चलने छूकछूक करके चलने वाला इंजन अगले माह तक आ जाएगा। इसके लिए प्रयास तेजी से चल रहे है कि इंजन इसी माह के अंत तक आ ही जाए। मंडल के अधिकारियों के अनुसार इंजन ही नहीं, हैरिटेज ट्रेन के लिए अतिरिक्त डिब्बों की मांग भी की गई है। वे भी बिकानेर से आ सकते है।

 heritage train

जल्दी सुविधा मिलेगी

रेस्ट हाउस से लेकर भांप के इंजन से हैरिटेज ट्रेन को चलाने के लिए सुविधा जल्दी ही मिलेगी। इसके लिए हमारे प्रयास जारी है। इसके लिए लगातार निरीक्षण कार्य जारी है।
- आरएन सुनकर, मंडल रेल प्रबंधक

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned