वाहन चलाते समय मोबाइल पर बात करने पर 3,000 जुर्माना लगेगा

वाहन चलाते समय मोबाइल पर बात करने पर 3,000 जुर्माना लगेगा

Akram Khan | Publish: Sep, 09 2018 06:37:13 PM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

वाहन चलाते समय मोबाइल पर बात करने पर 3,000 जुर्माना लगेगा

रतलाम। यातायात जागरूकता अभियान के अंतर्गत यातायात पुलिस ने शासकीय कन्या महाविद्यालय में जागरुकता कार्यक्रम आयोजित किया। इसमें बताया कि गाड़ी पर तीन सवारी न बैठे, गाडी चलाते समय मोबाईल का उपयोग न करे। मोबाईल का उपयोग करते पाये जाने पर 1500 दंड का प्रावधान है तथा पब्लिक वाहन चलाते समय मोबाइल का उपयोग करने पर 3000 दंड है। वाघमारे के अनुसार सुप्रीम कोर्ट ने एक्ट 21 से 25 में मोबाइल उपयोग करने पर दंड के साथ-साथ 3 से 6 महीने के लिए लाइसेंस स्थगित किया जा सकता है।
डीएसपी (यातायात) विलास वाघमारे ने छात्राओं को यातायात की विस्तृत जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि 16 वर्ष के पश्चात बिना गेयर वाली 50 सीसी के लाइसेंस बनतेे है। 18 वर्ष पश्चात गेयर वाली गाडियों के लाइसेंस बनाए जाते है। गाडियों को पार्किंग जोन में खड़े करना चाहिए। लाइसेंस यह गाडी चलाने का वैधानिक अधिकारी अधिकारी है। कार्यक्रम में प्रभारी प्राचार्य डॉ. आरके कटारे, डॉ. सुरेश कटारिया, डॉ. अनिल जैन, डॉ. सुरेश चौहान, डॉ. मदनलाल गांगले, डॉ. बी वर्षा, डॉ. सुषमा कटारे, डॉ. बीएस बामनिया, डॉ. स्नेहा पंडित, डॉ. मीनाक्षी व्यास उपस्थित थे। संचालन रासेयो प्रभारी डॉ. अनामिका सारस्वत ने किया आभार प्रो. निलोफर खामोशी ने माना।

पुलिस परिवार व सुरक्षा अधिकार कार्यक्रम आयोजित
रतलाम। जिला पुलिस कंट्रोल रूम पर शनिवार को आभास कार्यक्रम पुलिस परिवार एवं सुरक्षा अधिकार पुलिसकर्मी के परिवार की महिलाओं एवं उनके बच्चों के लिए आयोजित किया गया।
कार्यक्रम के दौरान पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी ने कहा कि स्वास्थ्य एवम शिक्षा पर ध्यान देने के संबंध में समझाया गया। एसपी की पत्नी आभा तिवारी सहित डॉ. अनुष्का शर्मा द्वारा भी महिलाओं और बच्चों को स्वच्छता, सुरक्षा एवं शिक्षा पर ध्यान देने के संबंध में समझाया गया। चाइल्ड लाइन अधिकारी प्रेमपाल सिंह द्वारा 1098 चाइल्ड लाइन हेल्प नंबर के संबंध में विस्तार से समझाया एवं उसके एक बार उपयोग हेतु महिला और बच्चों को बताया। सीमा विश्वास, एपीपी द्वारा महिला और बच्चों से संबंधित अपराधों के बारे में एवं कानूनी प्रावधान के बारे में बताया। खुशबू जोशी द्वारा सेल्फ डिफेंस के तरीकों को प्रेक्टिकल रूप में करके दिखाया। उपनिरीक्षक पिंकी आकाश द्वारा निर्भया मोबाइल नं. 7049127232, सहेली हेल्प लाइन नं. 7587621691 एवं ऊर्जा डेस्क के सम्बंध में विस्तार से बताया। साथ ही बच्चों को फिल्म के माध्यम से गुड टच और बैड टच के बारे में समझाया गया। कार्यक्रम के दौरान मौके पर मौके पर एसमपी गौरव तिवारी, एएसपी प्रदीप शर्मा, आभा तिवारी, डॉ.अनुष्का शर्मा, कु. सीमा शर्मा एपीपी., चाइल्ड लाइन अधिकारी प्रेमपाल सिंह, कु. खुशबू जोशी, सेल्फ डिफेंस प्रशिक्षक, गीता पोरवाल शिक्षक एवं पुलिस अधिकारी तथा पुलिस परिवार की महिलाएं एवं बच्चे उपस्थित थे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned