आदिवासी नेता और टीआई के बीच हुई झड़प

आदिवासी नेता और टीआई के बीच हुई झड़प

harinath dwivedi | Publish: Sep, 11 2018 05:35:14 PM (IST) | Updated: Sep, 11 2018 05:35:15 PM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

दुर्घटना में कार्रवाई करने की बात को लेकर आदिवासी नेता पहुंचा था सैलाना थाने

रतलाम. सैलाना थाना क्षेत्र में केदारेश्वर घाटे पर टवेरा कार की टक्कर से बाइक सवार घायल दंपती को आदिवासी नेता ध्यानवीर डामोर और उसके साथी अस्पताल लेकर पहुंचे। उसके बाद आरोपी कार चालक के खिलाफ कार्रवाई की पूछताछ करने थाने पहुंच गए। जहां पर टीआई मनीष दुबे से उनकी झड़प हो गई। इस दौरान आदिवासी नेता का आरोप है कि टीआई ने उन्हें दो घंटे एक कमरे में बंद रखा और मारपीट की। जिससे उनके होठ पर चोट आई है। जिसकी शिकायत उन्होंने एसपी गौरव तिवारी को शाम साढे छह बजे दी है। एसपी ने मामले की जांच का आश्वासन पीडि़त को दिया है।
जाम्बुखादन गांव निवासी ध्यानवीर पिता दर्शन डामोर ने बताया कि क्रांति मोर्चा की परिवर्तन यात्रा में शामिल होकर वह साथियों के साथ लौट रहा था। तभी सैलाना घाटे पर एक टवेरा कार ने बाइक को टक्कर मार दी। दुर्घटना में बाइक सवार कोटड़ा निवासी पप्पू पिता रामाजी चारेल (23) और उसकी पत्नी अन्नू (21) तथा दो बच्चे विनोद (5) व संचला (2) वर्ष घायल हुए थे। इस दौरान बाइक चालक पप्पू और उसके बेटे विनोद का दाहिना पैर फ्रैक्चर हो गया था। कार चालक को पकड़कर घायलों को साथियों ने जिला अस्पताल में भर्ती कराया। उसके बाद सामने थाने पर कार्रवाई के लिए पूछने गए तो टीआई ने अपशब्द कहना शुरू कर दिया। वह कहने लगे क्या तुम्हारा घायल रिश्तेदार है। उसके बाद एक कमरे में ले जाकर टीआई मनीष दुबे और आरक्षक रितेश ने मारपीट की। जिससे उसके होठ पर चोट आई और सूज गया। वहीं पेट में भी लात मारी। दो घंटे तक थाने में रखा। शाम साढे छह बजे रतलाम पहुंचकर एसपी को टीआई के अभद्र व्यवहार और मारपीट के खिलाफ शिकायत दी है। जिसकी जांच व कार्रवाई का एसपी ने आश्वासन दिया है।


अभद्रता की और शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाई
सैलाना घाटे पर टवेरा कार और बाइक से दुर्घटना हुई थी। जिसमें घायलों को सैलाना अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनके पैर में फ्रैक्चर था। जिसका मेडिकल करवा दिया गया था। वहीं दुर्घटना में प्रकरण दर्ज कर लिया गया था। तभी 15-20 लोगों के साथ आदिवासी नेता ध्यानवीर डामोर आया। उसने बदतमिजी से बात करना अंगुली दिखाकर शुरू कर दी। उनसे तमीज से बातचीत करने के लिए कहा गया। वहीं पूछा कि धारा 144 लगी है तो इतनी संख्या में यहां क्यू आए। दुर्घटना में कार्रवाई हो रही है। टवेरा कार जब्त कर ली है। उसके बाद भी तेज आवाज में अभद्रता के साथ पेश आए। जिसके चलते शासकीय कार्य में बाधा का उनके खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है। उनके द्वारा ध्यानवीर के साथ कोई मारपीट थाने में नहीं की गई। वह झूठा आरोप लगा रहे हैं।
- मनीष दुबे, थाना प्रभारी सैलाना

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned