रामघाट पर अनूठा मिलन, शिवना से मिली चंबल

पांच वर्षो के इंतजार की घड़ी खत्म, अब चंबल-शिवना बुझाएगी मंदसौर की प्यास

By: sachin trivedi

Updated: 02 May 2021, 04:39 AM IST

मंदसौर. जिस पल का पूरे मंदसौर को इंतजार था वो पल आ चुका है। कोल्वी से चलकर चंबल का पानी 53 किमी का रास्ता तय कर मंदसौर शहर की सीमा में प्रवेश कर गया। जिसका पांच साल से मंदसौरवासी को इंतजार था। हालांकि अभी सप्लाई से लेकर चंबल से प्रतिदिन जलापूर्ति पर निर्णय होना बाकी है। ग्रीष्मऋतु में शिवना के जलस्तर को देखते हुए नपा की पहली प्राथमिकता वर्तमान में जलसंकट से शहर को बचाते हुए जलापूर्ति करना है। ऐसे में पुरानी व्यवस्था से ही चंबल के पानी की सप्लाई शहर में करवाई जाएगी, लेकिन अभी कब से चंबल का पानी सप्लाई होगा इस पर भी निर्णय नहीं हुआ है। टंकियों की क्षमता से लेकर शहर में बिछी लाइन के प्रेशर झेलने की क्षमता और पानी की उपलब्धता से लेकर अन्य कई तकनीकि पहलूओं पर निर्णय बाकी है। हालांकि रामघाट तक पहुंचने से पहले शहर में भी लाइन में लीकेज सामने आए है। जिसकी मरमत का काम चल रहा है, लेकिन अब चंबल प्रोजेक्ट पूरा होने जा रहा है तो इसका श्रेय लेने के लिए होड़ सी मची है और इसमें हर कोई बढ़चढ़ अपनी भूमिका बताकर आगे आ रहा है। जबकि चार सालों से अधर में लटके प्रोजेक्ट पर कोई चुप्पी भी नहीं तोड़ रहा था। पत्रिका ने शहर की प्यास बुझाने वाले 55 करोड़ के चंबल प्रोजेक्ट को लेकर एक माह से अधिक समय तक लगातार खबरों का प्रकाशन हर एक पहलू पर किया और अब चंबल मंदसौर पहुंच चुकी है और अब हर घर में नलों से दस्तक देगी।

पशुपतिनाथ रोड पर निकलें लीकेज, आज पहुंचेगी रामघाट
वर्ष 2016 से शुरु हुआ प्रोजेक्ट 2018 में पूरा होना था लेकिन 2021 में यह पूरा हो रहा है। पखवाड़े भर से चल रही टेस्टिंग के बीच शनिवार सुबह 5 बजे मंदसौर शहर में चंबल ने प्रवेश किया। मेनपुरिया पशुपतिनाथ मुख्य द्वार के यहां लीकेज मिला फिर चंद्रपूरा रोड के यहां भी बड़ा लीकेज मिला और पानी व्यर्थ बह रहा था। अमले ने यहां लाइन वेल्डिंग करवाते हुए लीकेज सुधार करवाया। नालछा माता के समीप संतोषी माता मंदिर तक चंबल का पानी पहुंचा। मंदसौर में आते ही पशुपतिनाथ के दर तक पहुंचनने के बाद चंबल आगे का रास्ता तय करते हुए शिवना तक पहुंचेगी। देररात या फिर रविवार अलसुबह तक चंबल का पानी बचा हुआ तीन किमी का रास्ता तय कर शिवना नदी के तट पर बने रामघाट फिल्टर प्लांट तक पहुंचेगा और शिवना-चंबल का संगम होगा।

उदयपुर में मौसम के अलग-अलग नजारे

पत्रिका की मुहिम का बड़ा असर, चंबल पहुंची मंदसौर अब हर घर देगी दस्तक
चंबल प्रोजेक्ट को लेकर पत्रिका की मुहिक का बड़ा असर सामने आया है। लगातार खबरों के प्रकाशन के बाद चार सालों से अधर में लटके प्रोजेक्ट ने फिर चाल पकड़ी और पंप से लेकर लाइन टेस्टिंग केअलावा कोल्वी स्टेशन से लेकर विसंगतियों और लापरवाही को लेकर लीकेज से लेकर हर एक पहलू को लगातार प्रमुखता से प्रकाशित कर उजागर किया। इसके बाद कलेक्टर से सतत मॉनीटरिंग शुरु की तो सांसद भी कोल्वी स्टेशन तक जा पहुंचे और अब चंबल मंदसौर पहुंची। अब आने वाले दिनों में सप्लाई शुरु होगी और चंबल मंदसौरवासियेंा के घरों तक नलों के माध्यम से दस्तक देगी।

sachin trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned