रतलाम में यूरिया संकट, दो सरकारी नगद बिक्री केंद्र पर यूरिया खत्म

सरकारी दावे हवा, किसानों को राहत देने के नाम पर खोले केंद्रों पर खत्म यूरिया

By: Gourishankar Jodha

Published: 08 Dec 2019, 09:39 PM IST

रतलाम। मध्यप्रदेश के रतलाम जिले में यूरिया का संकट गहराने लगा है। यूरिया के चक्कर में किसान दिन रात परेशान हो रहे हैं, यूरिया तो नहीं मिल रहा पर खेत से दुकान तक भागादौड़ी मची हुई है। किसानों को राहत पहुंचाने के सरकारी दावे यहां हवा हो रहे हैं, दो-दो बोरी खाद भी सरकारी केंद्रों पर किसानों को नहीं मिल रहा है। यह बात अलग है कि जिम्मेदार अधिकारी दावा कर रहे है कि जिले में यूरिया का संकट नहीं है और ना ही होना दिया जाएगा। जबकि दिलीप नगर मप्र राज्य सहकारी विपणन संघ केंद्र पर पिछले तीन दिन से यूरिया नहीं मिल रहा है, शनिवार की दोपहर बाद बिरियाखेड़ी स्थित यूरिया वितरण केंद्र पर भी खत्म हो गया। इस कारण पूरे दिन सैकड़ों किसान केंद्रों के चक्कर लगाते नजर आए।

छोटे किसान बहुत परेशान

किसानों की माने तो दो-दो बोरी के लिए 20-25 किमी गांव से शहर में आने के बाद भी मायूसी हाथ लग रही है। छोटे किसान बहुत परेशान है। सिंचाई का समय है, मटर आदि का सीजन चल रहा है ऐसे में खाद के लिए मारामारी और पूरेे दिन कतार में खड़े होने के बाद भी यूरिया नहीं मिल रहा है, इस कारण किसानों को निजी दुकानों पर निर्भर होना पड़ रहा है और कालाबाजारी के शिकार हो रहे हैं, क्योंकि सोसायटियों में कालातीत और ओव्हर ड्यू किसानों को यूरिया मिल नहीं रहा।

केंद्र बढ़ाए पर यूरिया खत्म हो गया

सरकार के निर्देशानुसार कलेक्टर द्वारा जिले में पहले 7 और फिर कुल 11 केंद्र खुलवाए गए, लेकिन उन बिक्री केंद्रों पर भी यूरिया नहीं मिलना निजी क्षेत्रों को बढ़ावा दे रहा है। किसान भी दबी जुबान से यह कहते नजर आते है कि 300 से लेकर 350 रुपए तक प्रायवेट दुकानों पर मिल रहा है, और कई किसान ले भी रहे हैं, ताकि फसल सुधर जाए, सिंचाई समय पर मिल जाए। बिरियाखेड़ा पलसौड़ा के किसान राधेश्यम और गोपाल ने बताया कि मप्र राज्य सहकारी विपणन संघ केंद्र दिलीप नगर और बिरियाखेड़ी यूरिया नहीं होना बता रहे हैं, इतनी दूर से आए है दो नहीं तो एक बोरी की ही मांग करने लगे। इस पर उपस्थित कर्मचारी ने कहा कि अभी कुछ भी नहीं दोपहर 2 बजे तक 200 के करीब यूरिया नगद में वितरण किया गया था, अब जब भी माल आएगा तब देंगे।

दोनों केंद्रों पर यूरिया खत्म हो गया है
सहकारिता सोसाटियों में खाद किसानों को मिल रहा है, जहां पर अब तक 2047 मेट्रिक टन यूरिया का भंडारण है। इसी प्रकार निजी क्षेत्र में 300 मेट्रिक टन यूरिया का भंडारण है। शहर के दिलीप नगर केंद्र पर यूरिया नहीं होने के कारण दो-तीन दिन से नहीं मिल रहा है, जबकि बिरियाखेड़ी में शनिवार दोपहर तक वितरण किया गया था। दोनों केंद्रों पर अभी यूरिया नहीं है। रविवार को 1400 मेट्रिक टन यूरिया की रेंक दोपहर तक लग रही है।

जीएस मोहनिया, उपसंचालक कृषि रतलाम

Gourishankar Jodha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned