scriptuse of geysers will also increase your electricity bill | गीजर का उपयोग बढ़ाएगा आपका बिजली बिल | Patrika News

गीजर का उपयोग बढ़ाएगा आपका बिजली बिल

एक घर में गीजर पांच से आठ रूपए तक की लेता हैं बिजली

रतलाम

Published: December 23, 2021 02:26:17 pm

रतलाम. तापमान में पिछले एक सप्ताह में लगभग 5 डिग्री सेल्सियस की कमी आई है। अभी न्यूनतम तापमान 7/8 डिग्री के करीब है, लगभग सभी लोग गर्म पानी के नहाने एवं अन्य कार्यों में उपयोग कर रहे हैं। रतलाम, उज्जैन, देवास, मंदसौर, नीमच , जावरा जैसे शहरों में पचास फीसदी घरों में बिजली के गीजर का उपयोग होता है। प्रायः एक मध्यमवर्गीय परिवार का गीजर एक यूनिट तक बिजली ले लेता है। इस तरह रोज गर्मी पानी की लागत आठ रूपए आ रही है।
Burfanpur: Give electricity bill of 10 thousand to the servant, collectorate disease
Burfanpur: Give electricity bill of 10 thousand to the servant, collectorate disease
मालवा के इन शहर में पौने चार लाख से ज्यादा घर है। ज्यादातर लोग बिजली के गीजर का बाथरूम में फिटिंग कराते है, ताकि नल खोलते ही उन्हें गर्म पानी मिले। पानी गर्म करने वाला गीजर बिजली के अधिकतम उपयोग करने वाले उपकरणों में से एक है। बाजार में 500 वाट से लेकर 5000 वाट यानि 5 किलो वाट तक गीजर उपलब्ध है। गीजर में बिजली का उपयोग प्रायः उसकी साइज, गर्म पानी की जरूरत के हिसाब से होता है। औसत एक यूनिट प्रति घर गीजर का खर्च होता है।
बिजली का उपयोग

यदि दो लाख घरों में भी बिजली वाले गीजर का उपयोग होता है, तो सवा दो लाख यूनिट बिजली दैनिक गर्म पानी के लिए ही लगेगी। यह बिजली लगभग 12लाख रूपए दैनिक एवं करीब साढ़े तीन करोड़ मासिक कीमत की रहेगी। इस तरह ठंड में गर्म पानी करने के लिए करोड़ों की बिजली का उपयोग भी होगा। इसके अतिरिक्त कई परिवार शाम को रूम हीटर का भी उपयोग करते है, वह खर्च भी गीजर के अलावा होगा। बड़ी बात तो यह हैं कि तापमान गिरने के बावजूद अभी भी काफी परिवार सोते समय पंखों का उपयोग मच्छर भगाने की मंशा से कर रहे है। इस तरह पंखे पर भी बिजली का सतत खर्च पूर्व की तरह हो ही रहा है।
सोलर सिस्टम तुलनात्मक कम

पानी गर्म करने के लिए सोलर हीटर भी लगाए जाते है। लेकिन इनकी संख्या तुलनात्मक रूप से कम है। सोलर वाटर हीटर की संख्या इन शहर में 15 हजार भी नहीं है। सोलर यूनिट लगाने का व्यय लगभग एक लाख आता है। इससे काफी लोग अभी इसे नहीं लगा रहे है। गर्म पानी की लागत आती ही है, चाहे वह लकड़ी या कोयला जलाकर आए या फिर गैस, बिजली के गीजर के माध्यम से। होटल पर शीतकाल में गर्म पानी की एक बाल्टी 20 रूपए तक चार्ज की जाती है। इसी से गर्म पानी के सेवा के व्यय का अंदाजा लगाया जा सकता है।
उपय़ोग भी बहुतायत होता


इंदौर के साथ ही रतलाम, उज्जैन आदि शहर में बिजली की खपत ज्यादा है। इसका कारण यहां के लोगों का उच्च स्तरीय रहन सहन एवं अधिकाधिक सुविधाओं का उपयोग है। गर्मी में कूलर, एयरकंडीशनर का तो शीतकाल में गीजर का उपय़ोग भी बहुतायत होता है।
अमित तोमर, एमडी मप्रपक्षेविविकं इंदौर

MPEB Electricity Complaint Number 1912
IMAGE CREDIT: patrika

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

विराट कोहली ने छोड़ी टेस्ट टीम की कप्तानी, भावुक मन से बोली ये बातAssembly Election 2022: चुनाव आयोग ने रैली और रोड शो पर लगी रोक आगे बढ़ाई,अब 22 जनवरी तक करना होगा डिजिटल प्रचारArmy Day 2022: सेना प्रमुख MM Naravane ने दी चीन को चेतावनी, कहा- हमारे धैर्य की परीक्षा न लेंUP Election 2022 : भाजपा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी, गोरखपुर से योगी व सिराथू से मौर्या लड़ेंगे चुनावPunjab Assembly Election: कांग्रेस ने जारी की 86 उम्मीदवारों की पहली सूची, चमकोर से चन्नी, अमृतसर पूर्व से सिद्धू मैदान मेंदिल्ली में लगातार दूसरे दिन कम हुए कोरोना केस, जानिए कितने मरीजों ने गंवाई जानUP Assembly Elections 2022 : भाजपा ने काटे 20 विधायकों के टिकट, 2 गये सपा में, बाकी कहां, पढ़िये खबरHaryana: सरकार का निर्देश, बिना वैक्सीन लगाए 15 से 18 वर्ष के बच्चों को स्कूल में नहीं मिलेगी एंट्री
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.