scriptWaking up on the sound of the third wave of Corona, there was a claim | कोरोना की तीसरी लहर की आहट पर जागे जिम्मेदार, दूसरी लहर के दौर में दो सप्ताह में सीटी स्कैन मशीन आने का था दावा, पांच माह बाद भी नहीं आई | Patrika News

कोरोना की तीसरी लहर की आहट पर जागे जिम्मेदार, दूसरी लहर के दौर में दो सप्ताह में सीटी स्कैन मशीन आने का था दावा, पांच माह बाद भी नहीं आई

- मेडिकल कॉलेज में तीसरी को लेकर रेड अलर्ट जारी, व्यवस्थाओं की फिर से हो रही जांच पड़ताल

रतलाम

Updated: December 02, 2021 08:16:23 pm

रतलाम। जिले में कोरोना की दूसरी लहर के दौर में स्वास्थ्य महकमें की सांसे फूलने लगी थी। मेडिकल कॉलेज में मरीजों को भर्ती तो किया जा रहा था लेकिन मरीजों का सीटी स्कैन कराने के लिए उन्हे निजी सेंटर पर भेजा जा रहा था। सीटी स्कैन को लेकर मरीजों की बढ़ती परेशानी को कोविड के चरम पर होने के दौरान दो सप्ताह के भीतर सीटी स्कैन मशीन मेडिकल कॉलेज में आने का दावा किया गया था जो कि खोखला साबित हुआ है। पांच माह बीत जाने के बाद भी मेडिकल कॉलेज और जिला अस्पताल में आने वाली सीटी स्कैन मशीन नहीं आ सकी है।
कोरोना की तीसरी लहर की आहट पर जागे जिम्मेदार, दूसरी लहर के दौर में दो सप्ताह में सीटी स्कैन मशीन आने का था दावा, पांच माह बाद भी नहीं आई
कोरोना की तीसरी लहर की आहट पर जागे जिम्मेदार, दूसरी लहर के दौर में दो सप्ताह में सीटी स्कैन मशीन आने का था दावा, पांच माह बाद भी नहीं आई,कोरोना की तीसरी लहर की आहट पर जागे जिम्मेदार, दूसरी लहर के दौर में दो सप्ताह में सीटी स्कैन मशीन आने का था दावा, पांच माह बाद भी नहीं आई,कोरोना की तीसरी लहर की आहट पर जागे जिम्मेदार, दूसरी लहर के दौर में दो सप्ताह में सीटी स्कैन मशीन आने का था दावा, पांच माह बाद भी नहीं आई
कोविड की दूसरी लहर के दौर में मरीजों के बेहतर उपचार के दावे भी कई बारे मेडिकल कॉलेज में खोखले साबित होते नजर आए थे लेकिन ऑक्सीजन के लिए यहां आना हर किसी की मजबूरी बन गया था। दरअसल यहां आने वाले मरीजों को सीटी स्कैन कराने के लिए निजी सेंटर पर जाना पड़ता था, इसके लिए मरीज को परिजनों के माध्यम से सेंटर तक पहुंचाने के लिए घंटों एंबूलेंस का इंतजार करना पड़ता था। दरअसल मरीजों की बढ़ती संख्या के बीच एंबूलेंस भी सीमित हो कर रह गई थी।
सीटी स्कैन का अब भी इंतजार
कोविड की दूसरी लहर के दौर में मरीजों की सीटी स्कैन की परेशानी को देखते हुए मेडिकल कॉलेज और जिला अस्पताल में सीटी स्कैन मशीन बुलवाए जाने की प्रक्रिया शुरू हो गई थी। जिला अस्पताल में इसके लिए स्थान का चयन करने के साथ ही वहां पर इसे रखने के लिए ढांचा भी तैयार किया गया था और मशीन को अंदर तक पहुंचाने के लिए उसके हिसाब से पूरा निर्माण कार्य किया गया था लेकिन सारी तैयारियां होने के बाद कोरोना का दौर जब थमने लगा तो जिम्मेदार भी लापरवाह होकर चुप बैठ गए।
फिर 15 से 20 दिन का दावा
देश और प्रदेश में कोरोना के फिर से बढ़ते मामलों को देख अब फिर से हर कोई अलर्ट मोड पर आ गया है। मेडिकल कॉलेज को भी सीटी स्कैन मशीन की फिर से याद आ गई जिसके लिए उनके द्वारा पत्राचार करने की बात कही गई है। इतना ही नहीं एक बार फिर से कॉलेज प्रबंधन के द्वारा दावा किया जा रहा है कि आगामी 15 से 20 दिन में सीटी स्कैन मशीन रतलाम आ जाएगी लेकिन इसके आने के बाद इसका इंस्टॉलेशन कितने दिन में पूरा होता है और कितने दिन में यह पूरी तरह से शुरू हो जाती है, यह महत्वपूर्ण रहेगा।
रेड अलर्ट पर मंथन
वहीं दूसरी ओर कोरोना की संभावित तीसरी लहर को लेकर गुरुवार को मेडिकल कॉलेज ने रेड अलर्ट जारी कर दिया है। आनन-फानन में अब व्यवस्थाओं को खंगाला जाना शुरू कर दिया गया है। इसे लेकर डीन डॉ. जितेंद्र गुप्ता की मौजूदगी में विभिन्न विभागों की बैठक आयोजित की गई, जिसमें अस्पताल में साधन-संसाधनों के साथ ही उपचार के लिए दवाओं आवश्यक दवा और अन्य सामग्रियों की जानकारी जुटाई गई। वहीं व्यवस्था को ओर कैसे बेहतर बनाया जा सकता है, उस पर चर्चा की गई।
इनकी उपलब्धता पर ध्यान
तीसरी लहर की आशंका के चलते गुरुवार को मेडिकल कॉलेज डीन की मौजूदगी में शिशु रोग विभाग, टीबी, मेडिसिन, केजुअल मेडिकल ऑफिसर, ई-औषधी, एनएसथिसिया विभाग के प्रमुखों के साथ अस्पताल अधीक्षक की मौजूदगी में व्यावस्थओं को लेकर बैठक हुई। इसमें ऑक्सीजन, आवश्यक दवाएं, वार्ड के साथ उनमें बेड की स्थिति को भी जांचा परखा है।
इनका कहना है
जल्द आएगी सीटी स्कैन मशीन
- सीटी स्कैन मशीन बुलाए जाने के लिए पत्राचार किया गया है, आगामी 15 से 20 दिनों के भीतर मशीन रतलाम आने की संभावना है। कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के चलते रेड अलर्ट घोषित किया गया है और व्यवस्थाओं की पड़ताल कर रहे है।
डॉ. जितेंद्र गुप्ता, डीन, शासकीय मेडिकल कॉलेज, रतलाम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कोरोना: शनिवार रात्री से शुरू हुआ 30 घंटे का जन अनुशासन कफ्र्यूशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेCM गहलोत ने लापरवाही करने वालों को चेताया, ओमिक्रॉन को हल्के में नहीं लें2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.