scriptWestern Railway to be equipped with 'Kavach' system for passenger safe | अब 'कवच' सिस्टम से लैस होगा पश्चिम रेलवे, यात्री काे मिलेगी सुरक्षा के लिए | Patrika News

अब 'कवच' सिस्टम से लैस होगा पश्चिम रेलवे, यात्री काे मिलेगी सुरक्षा के लिए

- रतलाम रेल मंडल के 227 किमी मार्ग पर दुर्घटनाओं की रोकथाम के प्रयास

रतलाम

Published: September 12, 2022 03:24:06 am

रतलाम। पश्चिम रेलवे के रतलाम सहित सभी छह मंडल में इंजन में 'कवच' लगाने की शुरुआत हो रही है। इसके लिए टेंडर जारी कर दिए गए हैं। नागदा-रतलाम-गोधरा के 227 किमी के मार्ग पर ये कवच इंजन में लगाए जाएंगे।

railway_new_technic.png

पश्चिम रेलवे ने मिशन रफ्तार के तहत लगभग 208 करोड़ रुपए की लागत से ट्रेनों के संचालन में संरक्षा को बढ़ावा देने के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी है। इससे अकेले रतलाम रेल मंडल में प्रतिदिन 150 यात्री ट्रेन में यात्रियों को सुरक्षा मिलेगी।

इन्होंने किया विकसित
कवच को मेधा सर्वो ड्राइव्स प्राइवेट लिमिटेड, एचबीएल पावर सिस्टम्स लिमिटेड और केर्नेक्स माइक्रोसिस्टम्स के सहयोग से भारतीय रेलवे (आइआर) के अनुसंधान डिजाइन और मानक संगठन (आरडीएसओ) ने विकसित किया है।

वहीं कुछ समय पहले ही पूर्व मध्य रेल (East Central Railway) द्वारा भी मिशन रफ्तार (Mission Raftaar) के तहत लगभग 208 करोड़ रुपये की लागत से पं. दीन दयाल उपाध्याय जं. से प्रधानखांटा तक ट्रेनों के संचलन में संरक्षा को बढ़ावा देने के लिए स्वदेशी स्वचालित ट्रेन सुरक्षा प्रणाली 'कवच' के अंतर्गत लाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। चार चरणों में पूरी होने वाली इस परियोजना के पहले चरण में सोननगर से गया का कार्य प्रारंभ होगा। इस पूरी परियोजना को वर्ष 2024 के अंत तक पूरा कर लेने का लक्ष्य है।

यह है कवच तकनीक
'कवच' एक टक्कर रोधी तकनीक है। यह प्रौद्योगिकी रेलवे को इंजन की आमने-सामने की दुर्घटना रोकने में मदद करेगी। यह प्रौद्योगिकी माइक्रो प्रोसेसर, ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम और रेडियो संचार के माध्यमों से जुड़ी रहती है। तय दूरी के भीतर उसी ट्रैक पर दूसरी ट्रेन का पता लगाती है तो ट्रेन के इंजन में लगे उपकरण के माध्यम से निरंतर सचेत करते हुए स्वचालित ब्रेक लगाने में सक्षम है।

इस तरह से काम करती है प्रणाली
लोको पॉयलट जब पूरी गति से ट्रेन को चला रहा हो तब ये खतरे के बारे में बताते हुए ब्रेकिंग सिस्टम को स्वचालित रूप से सक्रिय करता है। कवच प्रणाली मौजूदा सिग्नल सिस्टम के साथ संपर्क बनाए रखती है तथा इसकी जानकारी ट्रेन संचालन से जुड़े सभी कर्मचारियों को निरंतर देती है। यह प्रणाली किसी भी आपात स्थिति में स्टेशन एवं लोको ड्राइवर को सचेत करने और साइड, आमने-सामने व पीछे से होने वाली टक्करों की रोकथाम करने में सक्षम है।

टेंडर जारी कर दिए गए हैं
'कवच' प्रणाली को पूरे पश्चिम रेलवे में लागू करने के लिए टेंडर जारी कर दिए गए हैं। इससे सबसे बड़ा लाभ ये होगा कि दिल्ली-मुंबई रेल मार्ग पूरी तरह से सुरक्षित हो जाएगा।
- विनीत गुप्ता, मंडल रेल प्रबंधक रतलाम

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

Ankita Bhandari Murder Case: मेरा बेटा सीधा-साधा है, बीजेपी से हटाए गए विनोद आर्य ने अपने बेटे का किया बचाव'आज भी TMC के 21 विधायक संपर्क में, बस इंतजार करिए', मिथुन चक्रवर्ती ने दोहराया अपना दावाखाना वहीं पड़ा था, डॉक्युमेंट्स और सामान भी वहीं थे , लेकिन... रिसॉर्ट के स्टाफ ने बताया कैसे गायब हुई अपने कमरे से अंकिताVideo: महबूबा मुफ्ती ने किया Pakistan PM का समर्थन, जम्मू कश्मीर के मुद्दे पर दिया ये बयान'PFI पर कार्रवाई करने में इतना वक्त क्यों लगा?', प्रियंका चतुर्वेदी ने कश्मीर को लेकर PM मोदी पर साधा निशाना2 खिलाड़ी जिनका करियर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बीच सीरीज में हुआ खत्म, रोहित शर्मा नहीं देंगे मौका!चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग हुए हाउस अरेस्ट! बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी के Tweet से मचा हड़कंपयुवाओं को लश्कर-ए-तैयबा और ISIS में शामिल होने को उकसा रहा था PFI, ग्लोबल फंडिंग के सबूत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.