दृढ़ इच्छाशक्ति ही नशे से दूर करने में कर सकती है मदद

शा कन्या महाविद्यालय का जागरूकता कार्यक्रम

By: Jyoti Gupta

Published: 31 May 2019, 09:40 PM IST

रिलेशनशिप

सतना. शा कन्या महाविद्यालय के एनएसएस विभाग के तत्वावधान में प्राचार्या डॉ. नीलम रिछारिया के नेतृत्व में विश्व तंबाकू दिवस मनाया गया। इस अवसर पर प्राचार्या ने कहा कि तंबाकू में मौजूद निकोटिन का शरीर में सबसे घातक प्रभाव पड़ता है। तंबाकू के सेवन से कैंसर, दन्तरोग, मधुमेह व हदयरोग हो सकते हैं। वनस्पति शास्त्र की विभागाध्यक्ष डा. शोभा गुप्ता ने छात्राओं से कहा कि वे न तो किसी तरह का नशा करेंगी और न ही अपने आसपास के लोगों को नशा करने देंगी। एनएसएस प्रभारी सुधा पाण्डेय ने कहा कि तंबाकू व अन्य नशीले पदार्थ के सेवन से शरीर के विभिन्न अंगों को नुकसान पहुंचता है। छात्रा प्रिया तिवारी ने कहा कि अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति द्वारा ही किसी भी प्रकार के नशे को दूर किया जा सकता है। इस अवसर सभी को नशा से दूर रहने की शपथ दिलाई गई। मौके पर डॉ. आभा खरे, डॉ. अनूप सिंह, मृगेन्द्र सिंह, लवी सिंह एवं महाविद्यालय की छात्राएं मौजूद रहीं।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned