scriptSakat Chauth 2022 Lord Ganesh Aarti Jai Ganesh Jai Ganesh Deva | Ganesh Ji Ki Aarti: जय गणेश जय गणेश देवा...गणेश जी की आरती | Patrika News

Ganesh Ji Ki Aarti: जय गणेश जय गणेश देवा...गणेश जी की आरती

21 जनवरी को संकष्टी चतुर्थी (Sankashti Chaturthi) है। इसे सकट चौथ (Sakat Chauth), तिलकुट चौथ और गणेश चतुर्थी नाम से भी जाना जाता है। ये व्रत महिलाएं अपनी संतान की लंबी उम्र और सुखी जीवन के लिए रखती हैं।

नई दिल्ली

Updated: January 21, 2022 09:51:18 am

Sakat Chauth 2022, Ganpati Aarti: संतान की लंबी आयु और खुशहाल जीवन के लिए महिलाएं सकट चौथ व्रत रखती हैं। कहते हैं इस व्रत को करने से जीवन के सारे दुख दूर हो जाते हैं। इसे संकष्टी चतुर्थी (Sankashti Chaturthi) के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन भगवान गणेश की पूजा भी की जाती है। इस त्योहार में तिलों का प्रयोग किए जाने के कारण इसे तिलकुट चौथ (Tilkut Chauth) के नाम से भी जाना जाता है। वैसे तो हर महीने में 2 गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) आती है लेकिन माघ महीने में पूर्णिमा के बाद आने वाली चतुर्थी को सबसे खास माना जाता है। इस दिन पूजा के समय गणेश जी की इस आरती को जरूर करना चाहिए।
ganesh_ji_ki_aarti.jpg
गणेश जी की आरती
गणेश जी की आरती (Ganesh Aarti):
जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा
माता जाकी पार्वती पिता महादेवा ॥ जय…
एक दंत दयावंत चार भुजा धारी।
माथे सिंदूर सोहे मूसे की सवारी ॥
अंधन को आंख देत, कोढ़िन को काया।
बांझन को पुत्र देत, निर्धन को माया ॥ जय…
हार चढ़े, फूल चढ़े और चढ़े मेवा।
लड्डुअन का भोग लगे संत करें सेवा ॥
दीनन की लाज रखो, शंभु सुतकारी।
कामना को पूर्ण करो जाऊं बलिहारी॥ जय…
‘सूर’ श्याम शरण आए सफल कीजे सेवा।
जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती पिता महादेवा॥ जय…
गणेश जी के मंत्र: गणेश जी की पूजा के समय ओम गं गणपतये नमः, ओम वक्रतुण्डाय नम:, ओम एकदन्ताय विद्महे वक्रतुण्डाय धीमहि तन्नो दन्तिः प्रचोदयात, श्रीगणेशाय नम: और ओम वक्रतुण्ड महाकाय सूर्य कोटि समप्रभ:, निर्विघ्नं कुरू मे देव, सर्व कार्येषु सर्वदा. मंत्रों का जाप कर सकते हैं। ये सभी मंत्र गणेश जी के सबसे प्रभावशाली मंत्र माने जाते हैं।
चंद्रमा को अर्घ्य देकर खोला जाता है ये व्रत: सकट चौथ पर महिलाएं पूरे दिन निर्जला व्रत रखती हैं। ये व्रत सूर्योदय से शुरू हो जाता है और रात में चंद्रमा के निकलने तक रहता है। 21 जनवरी 2022 को चांद रात में 9 बजे निकलेगा। चांद निकलने से पहले ही सकट चौथ की पूजा कर लें। फिर चंद्रमा को अर्घ्य देकर तिल के लड्डू का सेवन कर व्रत खोल लें।
यह भी पढ़ें

Sakat Chauth Vrat Katha: बिना इस कथा को पढ़े सकट चौथ व्रत माना जाता है अधूरा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

Azam Khan और अखिलेश में बढ़ी दूरियां, सपा विधानमंडल दल की बैठक में नहीं गए आजम खान'मातोश्री क्या कोई मस्जिद है?' पुणे रैली में राज ठाकरे ने PM से की यूनिफॉर्म सिविल कोड व जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांगपटना एयरपोर्ट पर बड़ा हादसा, निर्माण कार्य के दौरान गिरा लोहे का स्ट्रक्चर, दो मजदूरों की मौत, एक की टूटी रीढ़ की हड्डीPM मोदी तक पहुंची अल्मोड़ा की 'बाल मिठाई', स्टार शटलर लक्ष्य सेन ने ऐसा पूरा किया अपना वायदाराजस्थान में 50 हजार अपराधियों की बनेगी'कुंडली' थाना स्तर पर बनेगा डोजीयरभारतीय स्टार Veer Mahaan ने WWE दिग्गज को मार-मारकर किया बेसुध, पाकिस्तानी मूल का रेसलर धराशाईविश्व प्रसिद्ध धार्मिक स्थल हेमकुंड साहिब और लक्ष्मण मंदिर के खुले कपाट, दो साल बाद लौटी रौनकदुनिया की अनोखी घड़ी जिसमे कभी नहीं बजते 12, जानिए इसका रहस्य
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.