अगर घर में बहुत संख्या में घूमने लगे काले रंग के चूहे तो समझ लीजिए कि...

अगर आपको भी मिल रहे हैं इस तरह के संकेत, तो समझ जाइये कुछ अशुभ होने वाला है...

By: Devendra Kashyap

Published: 15 Mar 2020, 03:49 PM IST

हिंदू धर्म ग्रंथों में संकेतों के बारे में जानकारी दी गई है। इसके माध्यम से ये भी बताए गए हैं कि कौन सा संकेत शुभ हैं और कौन सा अशुभ। आज हम आपको अशुभ संकेतों के बारे में बताने जा रहे हैं। इन संकेतों को समझकर आप समय से पूर्व खुद को सचेत कर सकते हैं।

घर के परिसर में बिल्ली का रोना या आपस में झगड़ा करना विपत्ति या घर में क्लेश का संकेत माना जाता है।


अगर घर के मुख्य द्वार से सांप का प्रवेश होता है तो यह गृहस्वामी या गृहस्वामिनी के स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं माना जाता है।


अगर कोई चोट खाया, घायल पक्षी या उसका कोई काटा हुआ अंग आंगन में गिरता है तो समझ लेना चाहिए कि घर में महासंकट आने वाला है।


अगर घर में यदि कुतिया प्रसव करती है तो यह गृहस्वामी के लिए अच्छा संकेत नहीं है। यह शत्रु वृद्धि के संकेत के तौर पर देखा जाता है।


अगर घर में कौवा, गिद्ध, चील या कबूतर छह मास तक लगातार निवास करते हैं तो गृहस्वामी पर नाना प्रकार की विपत्ति आने का संकेत होता है।

अगर में काले रंग के चूहे बहुत अधिक तादाद में दिन और रात भर घूमते रहते हैं तो समझ लीजिए कि किसी रोग या शत्रु का आक्रमण होने वाला है।


अगर पालतू गाय अपना दूध पीती हो या अत्यधिक सिर हिलाती हो तो घर के गृहस्वामी के ऊपर कर्ज बढ़ता है और भाग्य खराब होने लगता है।


अगर सुबह या शाम के समय कौवा मांस या हड्डी लाकर गिराता है तोए समझना चाहिए कि कुछ अमंगल होने वाला है।


अगर कोई भी पक्षी घर में किसी भी समय कोई लोहे का टुकड़ा गिराता है तो माना जाता है कि घर में अचानक छापा पड़ने वाला है या परिवार के किसी सदस्य को कारावास होने की संभावना है।

Show More
Devendra Kashyap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned