बुरी नजर से बचने के लिए पान के पत्तों से करे ये सरल उपाय

बुरी नजर से बचने के लिए पान के पत्तों से करे ये सरल उपाय

By: Tanvi

Published: 07 Jun 2018, 06:21 PM IST

किसी भी शुभ कार्य में पान खाना और पूजा में पान का उपयोग करना व भगवान को अर्पित करने का प्रावधान है। ज्योतिषशास्त्र में पान के पत्तों को बेहद प्रभावशाली माना जाता है। माना जाता है कि बुध ग्रह का पान से बहुत गहरा नाता है। पान का हिन्दू धर्म में बहुत महत्व है। किसी भी कार्य के लिए पान एक अहम स्थान रखता है। पूजा में पान का इस्तेमाल देवता को स्नान कराने के लिए किया जाता है और पान से उनके ऊपर जल अर्पित किया जाता है। किसी स्थान के शुध्दिकरण के लिए भी पान के पत्ते का ही इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा तंत्र साधना में भी पान का अहम स्थान है। इससे आपकी मनोकामना भी सिध्द होती है। आइए जानते हैं पान के ऐसे ही कुछ उपायों के बारे में

 

paan

शुभ कार्य पर जानें से पहले करें ये उपाय

पान के पत्ते से लाभ पाने के लिए आपको अपनी जेब में पान का पत्ता, खीरा या फिर धनिया रख सकते हैं। इन्हें अपनी जेब में रखने के बाद घर से निकलें। माना जाता है कि जिस भी कार्य के लिए आप जा रहे हैं वह शुभ होता है।

जीवन के सभी संकटों से मुक्ति के लिए

गणेश जी को पान पर कंसार कोरे रखकर चढ़ाना चाहिए। इससे जीवन में सभी संकटों से मुक्ति मिलती है। यदि आप पान का सेवन करना चाहते हैं तो इसके लिए बुधवार की बेहद शुभ है। इस दिन पान का सेवन करने से आत्मविश्वास बढ़ता है।

मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए

भगवान शिव को पान अर्पित करने से व्यक्ति की मनोकामना पूर्ण होती है। शिव जी को पान अर्पित करते यह ध्यान रखें कि पूजा में इस्तेमाल होने वाला पान का पत्ता कटा, फटा या सूखा नहीं होना चाहिए। यह ताजा और चमकदार होना चाहिए। नहीं तो पूजा साकार नहीं मानी जाती है।

बुरी नजर से बचने के लिए

पान से बुरी नजर का भी उपाय किया जाता है। अगर किसी को बुरी नजर लगी हो तो, उस व्यक्ति को पान में गुलाब की सात पत्तियां रखकर खिलाने से बुरी नजर का असर खत्म हो जाता है। इस पान में केवल गुलकंद, खोपरे का बुरा, कत्था, सौंफ और सुमन कतरी डली हुई होती है।

व्यापार में लाभ के लिए

व्यापार में लाभ के लिए शनिवार प्रात: पांच पीपल के पत्ते और 8 पान के साबुत डंडीदार पत्ते लेकर उन्हें धागे में पिरोकर दुकान में पूर्व दिशा में बांध दें। यह उपाय कम से कम पांच शनिवार करना चाहिए। पुराने पत्तों को किसी नदी में प्रवाहित करे दें।

कार्य में रुकावट के लिए

यदि बनते काम में रूकावट आती है, तो रविवार को एक पान का पत्ता घर से बाहर निकलते समय लेकर निकलें, तो आपके रूके हुए काम संपन्न होना शुरू हो जाएंगे और घर में बरकत बनी रहेगी।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned