scriptPapmochani Ekadashi Katha, Puja Vidhi, Mahatva, Time, Muhurat | Papmochani Ekadashi 2022: पापमोचनी एकादशी व्रत कथा, पूजा विधि और महत्व सबकुछ यहां जानिए | Patrika News

Papmochani Ekadashi 2022: पापमोचनी एकादशी व्रत कथा, पूजा विधि और महत्व सबकुछ यहां जानिए

कैसे रखा जाता है पापमोचनी एकादशी व्रत। क्या है इसकी सही विधि, व्रत कथा, महत्व और सभी जरूरी जानकारी।

नई दिल्ली

Updated: March 28, 2022 10:14:32 am

Papmochani Ekadashi Ki Katha, Puja Vidhi: पापमोचनी एकादशी (Papmochani Ekadashi) यानी पापों का नाश करने वाली एकादशी 28 मार्च को सोमवार के दिन पड़ रही है। ये एकादशी हर साल चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को मनाई जाती है। इस एकादशी को बेहद खास माना जाता है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है। कहते हैं जो व्यक्ति इस एकादशी व्रत को सच्चे मन से रखता है उसे सारे पापों से मुक्ति मिल जाती है। साथ ही श्री हरि की कृपा हमेशा बनी रहती है। इस व्रत का पालन करने वाला व्यक्ति गायों के दान से भी ज्यादा पुण्य प्राप्त करता है। जानिए इस व्रत की पूजा विधि विस्तार से।

Ekadashi Vrat, papmochani ekadashi 2022, papmochani ekadashi 2022 time, papmochani ekadashi 2022 katha, papmochani ekadashi vrat katha, ekadashi 2022,
पापमोचनी एकादशी 2022: इस व्रत को करने से सभी पापों से मिल जाती है मुक्ति, पैसों की नहीं होती कभी कमी

पापमोचनी एकादशी का महत्व: पापमोचनी एकादशी व्रत रखने और इस दिन भगवान विष्णु की विधि विधान पूजा करने से व्यक्ति को कई बड़े पापों से छुटकारा मिल जाता है। ऐसे व्यक्ति मोक्ष के हकदार बन जाते हैं। मान्यता है इस व्रत का पालन करने से गायों के दान से भी ज्यादा पुण्यफल की प्राप्ति होती है।

पापमोचनी एकादशी व्रत पूजा विधि: सुबह जल्दी उठकर स्नान करें और व्रत करने का संकल्प लें। इसके बाद षोडशोपचार विधि से भगवान विष्णु की पूजा करें। भगवान विष्णु को धूप, दीप, फूल, भोग, चंदन, फल आदि अर्पित करें। पूजा में भगवान विष्णु को तुलसी के पत्ते जरूर अर्पित करें। पूजा के बाद व्रत कथा जरूर पढ़ें। भगवान विष्णु की आरती करें। संभव हो तो रात भर जागरण करें। इस व्रत में अन्न का सेवन नहीं किया जाता है। फलों का सेवन कर सकते हैं। व्रत का पारण द्वादशी के दिन होता है। व्रत रखने वाले यथाशक्ति जरूरतमंदों को दान भी जरूर करें।

पापमोचनी एकादशी व्रत कथा (Papmochani Ekadashi Ki Katha)
कथा अनुसार चैत्ररथ नाम के एक सुंदर वन में प्रख्यात ऋषि च्यवन अपने पुत्र मेधावी के साथ रहते थे। जब मेधावी तपस्या कर रहे थे तभी स्वर्ग से एक अप्सरा मंजूघोषा वहां से गुजरी। वो अप्सरा मेधावी को देखकर उनकी दीवानी हो गई। अप्सरा ने मेधावी को अपनी तरफ आकर्षित करने का काफी प्रयत्न किया। लेकिन वो असफल रही। अप्सरा मंजूघोषा की ये हरकतें कामदेव देख रहे थे। मेधावी को लुभाने के लिए कामदेव ने भी मंजूघोषा की मदद की जिस कारण अंत में दोनों सफल हुए।
इसके बाद मेधावी और मंजूघोषा सुखपूर्वक अपना जीवन व्यतीत करने लगे। लेकिन कुछ समय बीतने के बाद मेधावी को इस बात का एहसास हुआ कि ये गलत है कि कैसे उसने अपना ध्यान भंग करके यह कदम उठाया है। तब उन्होंने मंजूघोषा को पिशाचिनी बनने का श्राप दे दिया। मंजुघोषा मेधावी से क्षमा याचना करने लगी। तब मेधावी ने उन्हें बताया कि, ‘तुम पापमोचनी एकादशी का व्रत करो। इससे तुम्हारे पाप दूर हो जाएंगे।’
मेधावी के बताए अनुसार मंजूघोषा ने पापमोचनी एकादशी का व्रत किया जिसके चलते वह अपने पापों से मुक्त हो गई। क्योंकि मेधावी ने भी गलती की थी इसलिए उन्होंने ने भी इस एकादशी का व्रत किया और अपने पापों से मुक्त हो गए और जिसके फलस्वरुप मेधावी को अपना तेज वापस मिल गया।
यह भी पढ़ें

अप्रैल में धनु, मकर, कुंभ और मीन वालों को इस काम में मिलेगी बड़ी सफलता

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी केसः बहस पूरी, 1991 का वर्शिप एक्ट लागू होगा या नहीं, कल होगा फैसला, जानें सुनवाई से जुड़ी हर बातबीजेपी नेता किरीट सोमैया की पत्नी ने शिवसेना के संजय राउत के खिलाफ दर्ज कराया 100 करोड़ का मानहानि का मुकदमालैंड होते ही झटके से रूक गया यात्री विमान, सांस थामे बैठे रहे यात्रीजम्मू और कश्मीर: आतंकियों के निशाने पर सुरक्षा बल, श्रीनगर में जारी किया गया रेड अलर्टजापान में पीएम मोदी का जोरदार स्वागत, टोक्यो में जापानी उद्योगपतियों से की मुलाकातऑक्सफैम ने कहा- कोविड महामारी ने हर 30 घंटे में बनाया एक नया अरबपति, गरीबी को लेकर जताया चौंकाने वाला अनुमानसंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजरबिहार में पटरियों पर धरना-प्रदर्शन के चलते 23 ट्रेनें रद्द, 40 डायवर्ट की गईं
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.