scriptRules And Benefits of Kalava Raksha Sutra on hand In Puja | Astro Tips: पूजा के दौरान कलावा बांधते समय भूल से भी ना करें ये गलतियां, वरना झेलने पड़ सकते हैं अशुभ परिणाम | Patrika News

Astro Tips: पूजा के दौरान कलावा बांधते समय भूल से भी ना करें ये गलतियां, वरना झेलने पड़ सकते हैं अशुभ परिणाम

Astro Tips: घर में पूजा-पाठ के दौरान या किसी शुभ अवसर पर कलावे को रक्षा सूत्र के रूप में बांधा जाता है। लेकिन इसे बांधने के दौरान कुछ नियमों का ध्यान रखना भी बहुत जरूरी माना गया है।

नई दिल्ली

Updated: April 18, 2022 09:45:29 am

हिंदू शास्त्रों में पूजा-पाठ के दौरान बांधा जाने वाला कलावा बहुत शुभ और पवित्र माना जाता है। इस रक्षा सूत्र को बांधते समय व्यक्ति के जीवन में आने वाले संकटों से रक्षा की प्रार्थना की जाती है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार हाथ में कलावा बांधने से तीन महादेवियों मां लक्ष्मी, मां सरस्वती और मां काली के आशीर्वाद से संपत्ति, विद्या और शक्ति की प्राप्ति होती है। ऐसे में इस पूजनीय धागे को बांधते समय कुछ नियमों की पालना करना भी आवश्यक माना गया है। अन्यथा जीवन में अशुभ परिणाम देखने को मिल सकते हैं...

kalava raksha sutra, raksha sutra dhaga, kalawa mauli thread, kalava in hand, how to tie kalawa, importance of kalawa, kalawa kis hath me bandhe, kalawa kis din bandhe, कलावा बांधने के नियम, कलावा किस दिन बांधना चाहिए, कलावा किस हाथ में बांधना चाहिए, रक्षा सूत्र, मौली,
Astro Tips: पूजा के दौरान कलावा बांधते समय भूल से भी ना करें ये गलतियां, वरना झेलने पड़ सकते हैं अशुभ परिणाम

1. किस हाथ में कलावा बांधना चाहिए
हिंदू धर्म की मान्यता के अनुसार पुरुषों और अविवाहित कन्याओं को अपने दाएं हाथ में कलावा बांधना चाहिए। जबकि शादीशुदा महिलाएं अपने बाएं हाथ में कलावा बंधवाएं।

2. किस दिन कलावा बदलना चाहिए
माना जाता है कि संकटों की रक्षा के लिए बांधा जाने वाला कलावा मन चाहे तभी नहीं बदलना चाहिए। अगर आपको कलावा बदलना है तो इसे मंगलवार या शनिवार के दिन भी बदलें। वहीं पुराना कलावा तोड़ने के बाद पूजा स्थल पर ही नया रक्षा सूत्र बंधवा लें।

3. पुराना या तोड़ा हुआ कलावा कहां डालें
पूजनीय माने जाने वाले कलावे को कहीं भी उतारकर नहीं फेंक देना चाहिए, क्योंकि ऐसा करना अशुभ माना जाता है। कलावा तोड़ने या इसे हाथ से निकालने के बाद किसी नदी में बहा आएं या फिर किसी पीपल के पेड़ के नीचे रख आएं।

4. कलावे को कितनी बार लपेटें
कलावा बंधवाने के समय इस नियम का ध्यान रखना भी जरूरी है कि कलावे को हाथ में कितनी बार लपेटना चाहिए। साथ ही कलावा बांधते समय अपने हाथ में एक सिक्का लेकर मुट्ठी बंद रखें और दूसरा हाथ अपने सिर पर रखें। अब जिस किसी से भी आप कलावा बंधवा रहे हैं उससे अपने हाथ में इसे 2, 3 या 5 बार लपेटवाएं। इसके बाद आप अपने हाथ का सिक्का उसे दे दें।

यह भी पढ़ें:

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

IPL 2022 MI vs SRH Live Updates : रोमांचक मुकाबले में हैदराबाद ने मुंबई को 3 रनों से हरायामुस्लिम पक्षकार क्यों चाहते हैं 1991 एक्ट को लागू कराना, क्या कनेक्शन है काशी की ज्ञानवापी मस्जिद और शिवलिंग...जम्मू कश्मीर के बारामूला में आतंकवादियों ने शराब की दुकान पर फेंका ग्रेनेड,3 घायल, 1 की मौतमॉब लिंचिंग : भीड़ ने युवक को पुलिस के सामने पीट पीटकर मार डाला, दूसरी पत्नी से मिलने पहुंचा थादिल्ली के अशोक विहार के बैंक्वेट हॉल में लगी आग, 10 दमकल मौके पर मौजूदभारत में पेट्रोल अमेरिका, चीन, पाकिस्तान और श्रीलंका से भी महंगाकर्नाटक के राज्यपाल ने धर्मांतरण विरोधी विधेयक को दी मंजूरी, इस कानून को लागू करने वाला 9वां राज्य बनाSwayamvar Mika Di Vohti : सिंगर मीका का जोधपुर में हो रहा स्वयंवर, भाई दिलर मेहंदी व कॉमेडियन कपिल शर्मा सहित कई सितारे आए
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.