shri krishna janmashtami 2021: जन्मभूमि मथुरा से लेकर द्वारिका तक जश्न का माहौल

फूलों से सजे मंदिर...

By: दीपेश तिवारी

Updated: 30 Aug 2021, 03:14 PM IST

भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव का उत्साह आज पूरे देश में देखने को मिल रहा है। एक ओर श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व सोमवार और मंगलवार की मध्यरात्रि में मनाया जाएगा। वहीं सोमवार सुबह से ही लोग श्री कृष्ण की भक्ति में डूबे दिख रहे हैं। साथ ही उनके मंदिरों को लगातार सजाया जा रहा है। वहीं कई जगह कोरोना को देखते हुए लोग नियमों का पालन करते हुए मंदिरों में दर्शन करने व मंदिरों को सजाने के कार्य में जुटे हुए हैं।

इसी के चलते वाराणसी के इस्कॉन मंदिर में प्रभु के विग्रहों को देश-विदेश के सुंदर फूलों से सजाया जा रहा है। यहां दो दिवसीय आयोजन की शुरूआत सोमवार, 30 अगस्त से हो गई है।

Happy janmashtami-2021

ब्रह्म मुहूर्त में भगवान की विशेष मंगला आरती, तुलसी आरती और श्रृंगार आरती के बाद इस्कॉन के भक्तों द्वारा 24 घंटे का अखंड हरिनाम संकीर्तन का आयोजन किया जा रहा है। यहां शाम 6 से 9 बजे तक ऑनलाइन कीर्तन मेला भी रहेगा। वहीं रात 10 बजे से 11 बजे तक श्रीकृष्ण कथा पर प्रवचन होंगे। इसके बाद भगवान का कलश महाभिषेक और रात 12 बजे श्रीकृष्ण जन्म पर भगवान को भोग अर्पित कर महाआरती की जाएगी।

जन्मभूमि मथुरा:
वहीं दूसरी ओर श्रीकृष्ण की नगरी मथुरा में भी भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव को लेकर जन्माष्टमी की तैयारियां जोर-शोर जारी हैं। बताया जाता है कि यहां के मंदिरों में भगवान को चढ़ाए जाने वाले प्रसाद बनना शुरू हो चुका है।

वहीं श्री कृष्ण जन्मस्थान के संबंध में जो जानकारी समाने आ रही है उसके अनुसार कोविड-19 के चलते इस बार आने वाले श्रद्धालुओं को प्रसाद नहीं मिलेगा।

Must Read- Janmashtami 2021: लड्डू गोपाल नाम से जुड़ी ये दिलचस्प कथा

shri_krishna_ji

भोपाल, मध्यप्रदेश:
इसके अलावा मध्यप्रदेश के भोपाल में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के चलते शहर के राधा-कृष्ण मंदिरों में आकर्षक विद्युत साज सज्जा की गई है। कहीं विभिन्न भारतीय मुद्राओं से भगवान श्रीकृष्ण का श्रृंगार किया गया है तो कहीं कीमती आभूषण, पोशाक भगवान को पहनाई जा रही है। ऐसे में जन्माष्टमी के चलते शहर में बाजारों से लेकर मंदिरों व घरों तक में उत्सवी माहौल दिख रहा है।

भोपाल में भी श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व सोमवार और मंगलवार की मध्यरात्रि में मनाया जाएगा। ऐसे में कोरोना प्रोटोकाल के तहर रात 12 बजते ही शहर में उत्सवी माहौल नजर आएगा। यहां बरखेड़ी के अहीर यादव समाज मंदिर में राधा-कृष्ण का भारतीय मुद्राओं से श्रृंगार किया गया है। यहां 10 रुपए से लेकर 500 रुपए तक के नोट और सिक्के से श्रृंगार किया है।

Must Read- श्रीकृष्ण जन्माष्टमी 2021 के प्रमुख योग

shri_krishna_temple

वहीं दूसरी ओर भोपाल के अशोका गार्डन स्थित राधाकृष्ण मंदिर में साज-सज्जा के लिए थाइलैंड और आस्ट्रेलिया से इंथोरियम, कानेशन, ओरटेक जैसे खूबसूरत फूल आए हैं। इसके अलावा हैदराबाद, जयपुर, चेन्नई आदि से भी यहां फूल आए हैं, ऐसे में करीब 25 क्विंटल फूलों से मंदिर की सजावट की जा रही है।

द्वारका, गुजरात:
द्वारका के इस्कॉन मंदिर में आज भगवान कृष्ण का जन्म उत्सव पूरे उत्साह के साथ मनाए जाने की तैयारियां पूर्ण हो चूकी हैं। कोरोना को देखते हुए यहां जन्माष्टमी उत्सव को मनाने के लिए ऑनलाइन व्यवस्था की गई है।

पूरे दिन आज यहां कीर्तन चलता रहा, जिसका सीधा प्रसारण इस्कॉन द्वारका यूट्यूब चैनल द्वारा किया गया।
इसके अलावा यहां रंग-बिरंगे सुगंधित फूलों, मणि-मालाओं से सजे मंदिर में भगवान के 108 दिव्य द्रव्यों से अभिषेक कर उनकी 'महाआरती' की तैयारी पूरी कर ली गई है।

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned