भारत में साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, प्राकृतिक आपदायें होने की आशंका, जानें प्रभाव

भारत में दिखाई देगा साल का आखिरी सूर्य ग्रहण

By: Tanvi

Updated: 26 Dec 2019, 10:39 AM IST

26 दिसंबर को साल का आखिरी सूर्य ग्रहण है। यह सूर्य ग्रहण भारत समेत कई देशों में दिखाई देगा। इसका प्रभाव हर क्षेत्र में हर जगह नजर आएगा। वहीं पंडित रमाकांत मिश्रा के अनुसार सूर्य ग्रहण के समय 6 ग्रह सूर्य, चन्द्रमा, गुरु, शनि और बुध की युति धनु राशि में केतु के साथ बनेगी। पंडित जी का कहना है कि इसके पहले सन् 1962 में ऐसी स्थिति बनी थी। जब पूर्ण सूर्य ग्रहण के समय मकर राशि में सभी 7 ग्रह केतु के साथ उपस्थित थे। इस साल भी यही स्थिति बन रही है। यह संयोग करीब 58 साल बाद फिर से बना है।

 

surya_grahan3.jpg

 

सूर्य ग्रहण की समयावधि

भारतीय समय के अनुसार 26 दिसंबर के ग्रहण का सूतक सुबह 8 बजे से आरंभ होकर दोपहर 1 बजकर 36 मिनट तक रहेगा। यह सूर्य ग्रहण भारत के सथा-साथ खाड़ी देशों अफगानिस्तान, पाकिस्तान, भारत, चीन और पूर्वी एशिया के बड़े हिस्से में दिखाई देगा।

 

surya_grahan5.jpg

 

इस महीने आ सकती है आपदायें

ग्रहण के समय धनु राशि में बुध की युति सूर्य और चन्द्रमा से हो रही है जिस कारण इसके अशुभ फल तुरंत दिखाई देंगे। इसका साथ ही सूर्य ग्रहण से एक दिन पहले मंगल राशि परिवर्तन करके वृश्चिक में प्रवेश करेंगे, जो कि जल-तत्व की राशि है। ऐसे में ग्रहण के 3 से 15 दिनों के अंदर प्राकृतिक आपदा जैसे भूकंप, सुनामी और खूब बर्फबारी होने की आशंका है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned