WBJEE 2018 Result जारी, वेस्ट बंगाल जेईई का रिजल्ट ऐसे करें चेक

WBJEE 2018 Result जारी, वेस्ट बंगाल जेईई का रिजल्ट ऐसे करें चेक

Sunil Sharma | Publish: May, 25 2018 11:40:46 AM (IST) रिजल्‍ट्स

वेस्ट बंगाल जॉइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (WBJEE 2018) का रिजल्ट देखने के लिए बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट wbjeeb.nic.in ओपन करें।

वेस्ट बंगाल जॉइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (WBJEE 2018) का रिजल्ट आज बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर जारी कर दिया गया है। स्टूडेंट्स अपना रिजल्ट आज शाम 3 बजे से बोर्ड की वेबसाइट पर देख सकेंगे। इस परीक्षा का आयोजन 22 अप्रैल 2018 को दो पारियों में किया गया था।

उल्लेखनीय है कि इस परीक्षा के अंकों के आधार पर ही पश्चिमी बंगाल की विभिन्न यूनिवर्सिटीज तथा कॉलेजों में टेक्नीकल एजुकेशन (इंजिनियरिंग, आर्किटेक्टचर तथा फार्मेसी डिग्री) के कोर्सेज में दाखिला दिया जाएगा। इस एग्जाम की मैरिट लिस्ट के बेस पर ही एडमिशन मिलता है लेकिन उसके लिए छात्रों को 12वीं फीजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ तीनों सब्जेक्ट में 50-50 फीसदी अंकों के साथ पास होना जरूरी है।

ऐसे करें रिजल्ट चैक
वेस्ट बंगाल जॉइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (WBJEE 2018) का रिजल्ट देखने के लिए बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट wbjeeb.nic.in ओपन करें। इसके बाद इसमें अपना रोल नम्बर तथा अन्य डिटेल्स सब्मिट करें। तत्पश्चात वेबसाइट पर आपका रिजल्ट दिखाई देगा। इस रिजल्ट को आप प्रिंट कर सकते हैं अथवा डाउनलोड भी कर सकते हैं।

क्या है WJEEB बोर्ड
परीक्षा के साथ ही WJEEB छात्रों के लिए E-Counselling का भी आयोजन करता है जिसके तहत स्टूडेंट्स को विभिन्न विषयों से जुड़ी जानकारी दी जाती है। उल्लेखनीय है कि आसाम राज्य में UG लेवल इंजिनियरिंग कोर्सेज में दाखिले के हेतु कॉमन एंट्रेंस टेस्ट के आयोजन के लिए WJEEB का गठन किया गया था। हर साल WJEEB राज्य के विभिन्न संस्थानों, यूनिवर्सिटिज, सरकारी कॉलेजों और निजी संस्थानों में इंजिनियरिंग और टेक्नॉलजी, फार्मेसी एवं आर्किटेक्चर में दाखिले के लिए आयोजित किया जाता है।

परीक्षा के बाद बोर्ड इंजीनियरिंग तथा फॉर्मेसी कोर्सेज में दाखिले के लिए मेरिट लिस्ट जारी करता है। गत वर्ष भी लगभग 1.18 लाख छात्रों ने प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया था इनमें से करीब 36 फीसदी छात्र दूसरे राज्यों के थे। परीक्षा का नतीजा जून 2017 में घोषित किया गया था। रिजल्ट में लगभग 85 फीसदी छात्र पास हुए थे जिन्हें मेरिट के आधार पर इंजीनियरिंग कॉलेज में दाखिला दिया गया था।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned