खरीदी केंद्रों में 3 लाख क्विंटल धान बूंदाबांदी में भीगा

खरीदी केंद्रों में 3 लाख क्विंटल धान बूंदाबांदी में भीगा

By: Bajrangi rathore

Published: 03 Jan 2020, 10:14 PM IST

रीवा। मप्र के रीवा जिले में समर्थन मूल्य की उपज तौल के लिए बनाए गए केन्द्रों पर खुले में रखा हजारों क्विंटल धान भीग गया। अव्यवस्था के चलते खुले आसमान में रखे बोरे पॉलीथिन और तिरपाल से ढके तक नहीं जा सके। मौसम खराब होने के बावजूद जिले में जिम्मेदार लापरवाह बने रहे। गुरुवार की बारिश से तीन लाख क्विंटल से ज्यादा धान केन्द्रों पर नम हो गया।

विभागीय अधिकारियों का तर्क है कि भीगा नहीं है, धान के बोरों में मामूली नमी आयी है। जिले में अब तक 8.20 लाख क्विंटल से ज्यादा धान की तौल हो चुकी है। गुरुवार की सुबह केन्द्रों पर ३ लाख क्विंटल से ज्यादा धान खुली जगह पर रखी हुई है। ज्यादातर केन्द्रों पर बोरों की छल्ली नहीं लगी है।

मामूली बारिश के चलते केन्द्रों पर रखी धान भीग गई। मामले को लेकर कलेक्टर बसंत कुर्रे ने विभागीय अधिकारियों के साथ गुरुवार को समीक्षा की। कलेक्टर ने निर्देश दिया है कि किसी भी केन्द्र पर अव्यवस्था नहीं होनी चाहिए। किसानों का समय से भुगतान कराया जाए।

कलेक्टर ने समीक्षा के दौरान कई केन्द्रों पर बारदाना नहीं होने की जानकारी ली। जवाब में जिला प्रबंधक नान ने बताया कि समिति प्रबंधकों की तौल और दिए गए बारदाना के हिसाब से अभी केन्द्रों पर बारदाना एडवांस है। इस दौरान कलेक्टर ने कई अन्य बिंदुओं पर भी समीक्षा की। समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने तौल की स्थिति का जायजा लिया।

जवाब में अधिकारियों ने बताया कि 8.20 लाख से ज्यादा तौल हो चुकी है। 5.30 लाख क्विंटल का परिवहन हो चुका है। इधर, कृषि उपज मंडी करहिया, टीकर, गुढ़, भंवरा, रिमारी, परसिया, बन्ना, नौबस्ता आदि कई जगहों पर धान खुले आसमान के नीचे रखा था।

बारिश के दौरान भीग गया। विभागीय अध्ािकारियों का तर्क है कि बूंदाबांदी हुई है। जिससे धान नम हुआ है। इससे अधिक बारिश पर खराब होने की संभावना बढ़ जाएगी।

गोदाम में ट्रकों की नहीं हो रही अनलोडिंग

जिले में विपणन संघ के कैप ओर वेयर हाउस के गोदाम में धान का उठाव करने के बाद ट्रकों की अनलोडिंग नहीं हो पा रही है। परिवहनकर्ताओं ने जिला नियंत्रक को सूचना दी है कि उमरी में तीन परिवहनकर्ताओं के दर्जनों की संख्या में ट्रक धान की अनलोडिंग के लिए खड़े हैं।

ट्रकों के खड़े होने की जगह नहीं होने क कारण दिक्कत हो रही है। नियंत्रक ने वेयर हाउस प्रबंधक से बात की तो प्रभारी जिला प्रबध्ंाक ने कहा उमरी में 7800 एमटी की क्षमता का बड़ा गोदाम खोल दिया गया है। गोदाम के सभी गेट भी खोल दिए गए हैं।

कैलाशपुर में परिवहनकर्ता ने नहीं भेजा ट्रक

कलेक्टर की समीक्षा के बाद जिला नियंत्रक दोपहर वेयर हाउस सहित विभागीय अधिकारियों के साथ मंथन किया। नियंत्रक कार्यालय पहुंचे समिति प्रबंधक ने कहा साहब कैलाशपुर में परिवहनकर्ता धान का उठाव नहीं कर रहा है। केन्द्र पर 2500 क्विंटल से ज्यादा धान खुले में रखा हुआ है।

मामले में परिवहनकर्ता भवानी ट्रांसपोर्टर से बात की। परिवहनकर्ता ने जवाब दिया कि कल सात ट्रक खड़े थे, प्रबंधक ने लोडिंग नहीं कराई।जिला खाद्य नियंत्रक ठाकुर राजेन्द्र ङ्क्षसह ने कहा कि आज पांच ट्रक खड़े हैं लोडिंग कराओ।

समिति प्रबंधकों पर भड़के कलेक्टर

जिले में खरीद केन्द्रों पर किसानों की उपज में अतिरिक्त तौल के मामले की कलेक्टर ने जांच कराई। एसडीएम हुजूर टीकर, गोविंदगढ़ समिति पर जांच करने पहुंचे। मामला सही पाए जाने पर एसडीएम ने केन्द्र पर कर्मचारियों को फटकार लगाते हुए कहा कि शासन की गाइडलाइन के तहत ही तौल करो।

एसडीएम की रिपोर्ट पर कलेक्टर ने सहकारिता, नान, विपणन संघ सहित विभागीय अधिकारियों की बैठक बुलाई। कलेक्टर ने सहकारी समिति के प्रबंधकों की करतूत पर नाराज जताते हुए कहा कि किसानों के साथ जयदस्ती बर्दास्त नहीं की जाएगी। नियमानुसार ही तौल करें।

कलेक्टर ने इस दौरान केन्द्रों पर तौल, उठाव और किसानों के भुगतान की समीक्षा की। भुगतान को लेकर शासन को पत्र भेजने का कहा है। इसके अलावा खरीद केन्द्रों पर व्यवस्था के लिए जिम्मेदारों की नकेल कसी है।

Bajrangi rathore Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned