54 किलोमीटर सड़क खोदकर छोड़ा, 20 महीने में 10 किलोमीटर बनी कंक्रीट सड़क

पिछले दस साल के संघर्ष के बाद 2018 में रायपुर कर्चुलियान-सीतापुर मार्ग निर्माण की स्वीकृत मिली। 54 किलोमीटर लंबी सड़क को 80 करोड़ रुपए मेंं कंक्रीट बनाया जाना है। इसके लिए 21 मई 2021 तक समय निर्माण एजेंसी के पास है। सड़क बना रही एलएनएस इंफ्रा नईदिल्ली ने 54 किलोमीटर सड़क खोदने के बाद पिछले 20 माह में मात्र 10 किलोमीटर कंक्रीट सड़क बना पाई है।

रीवा। पिछले दस साल के संघर्ष के बाद 2018 में रायपुर कर्चुलियान-सीतापुर मार्ग निर्माण की स्वीकृत मिली। 54 किलोमीटर लंबी सड़क को 80 करोड़ रुपए मेंं कंक्रीट बनाया जाना है। इसके लिए 21 मई 2021 तक समय निर्माण एजेंसी के पास है। सड़क बना रही एलएनएस इंफ्रा नईदिल्ली ने 54 किलोमीटर सड़क खोदने के बाद पिछले 20 माह में मात्र 10 किलोमीटर कंक्रीट सड़क बना पाई है। ऐसे में शेष 16 माह में 44 किलोमीटर सीसी सड़क के पूरे होने की उम्मीद नहीं के बराबर है। वहीं सड़क खोदने के बाद वाहन तक नहीं चल पा रहे है, ऐसे में लोगों का आक्रोश बढ़ रहा है।

रायपुर कर्चुलियान-सीतापुर मार्ग के खराब होने से सड़क पर लंबे समय से स्थानीय लोगों ने आंदोलन चलाया है। निर्माण कंपनी ने रायपुर कचुलियान से लेकर बाया सीतापुर पन्नी मार्ग 54 किलोमीटर खोद डाला है। इसके बाद इस सड़क में कोई सुधार नहीं किया है। ऐसे में लोगों का आवगमन बाधित हो गया है। इसी बीच कंपनी ने भुगतान के अभाव में तीन महीने तक काम रोक दिया। जिससे इस मार्ग से गुजरने वालों की मुश्किलें और बढ़ गई है। वहीं अनुबंध की शर्तों के तहत सड़क को चालू हालत में नहीं रखने एवं धूल व गड्ढों को नहीं भरने से स्थिति और खराब है। इसे लेकर सड़क में स्थानीय लोग प्रदर्शन पर उतर आए है। क्षेत्र के लोग लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन ठेकेदार की मनमानी जारी है।

दस दिनों दो किलोमीटर ही बन पाएंगी कंक्रीट सड़क
तकनीकी विशेषज्ञों की माने तो कंक्रीट सड़क मशीन द्वारा अधिकतम एक दिन में 400 से 500 मीटर तक ही बन सकती है। ऐसे में दोनों तरफ कंक्रीट सड़क का निर्माण होने में कम से 2 किमी सड़क का निर्माण दस दिन में हो सकता है। बताया जा रहा है कि अभी कंपनी द्वारा पूरी सड़क का अर्थवर्क डीएलसी व सीआरएम पूरा नहीं किया गया है। ऐसे में और अधिक समय लग सकता है। बताया जा रहा है कि तीन महीने तक 6 करोड़ से अधिक का काम होने के बाद महज विभाग द्वारा छह लाख का भुगतान करने के कारण काम बंद पड़ा था।

Lokmani shukla
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned