लग्जरी गाड़ में लोड कर लाई जा रही, 65 किलो बरामद

मऊगंज पुलिस ने की कार्रवाई, तस्कर अंधेरा का लाभ उठाकर फरार

By: Shivshankar pandey

Published: 15 Jul 2020, 09:19 PM IST

रीवा। लग्जरी गाड़ी में लोड कर लाई जा रही गांजा की बड़ी खेप पुलिस ने पकड़ी है। तस्कर अंधेरे का लाभ उठाकर भागने में कामयाब हो गए। पुलिस ने गाड़ी व गांजा बरामद कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। पुलिस अब गांजा तस्करी करने वाले आरोपियों की तलाश कर रही है।

मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने की घेराबंदी
मऊगंज पुलिस को मंगलवार की रात यूपी तरफ से गांजा की खेप आने की सूचना पुलिस को मिली थी। मऊगंज पुलिस ने घेराबंदी कर दी। जैसे ही तस्करों की नजर पुलिस पर पड़ी तो उन्होंने गाड़ी को तड़हर तरफ जंगल में प्रवेश कर दिया। इस दौरान पुलिस ने पीछा कर लिया जिस पर तस्करों की गाड़ी आगे जाकर कीचड़ में फंस गई जिस पर तस्कर गाड़ी छोड़कर फरार हो गए। तलाशी के दौरान गाड़ी में 65 किलो गांजा बरामद हुआ है जिसकी अनुमानित 6.50 लाख रुपए बताई जा रही है। पुलिस ने वाहन समेत गांजा की खेप को थाने ले आई। गांजा तस्करी का मुख्य आरोपी भोला जायसवाल निवासी मनगवां है जो यूपी से गांजा की खेप लेकर आया था।

साथियों की तलाश जारी
उसके साथ गाड़ी में कुछ साथी भी सवार थे जिनका अभी तक पता नहीं चल पाया है। मुख्य सरगना शातिर गांजा तस्कर है और वह इलाके में बिक्री के लिए गांजा लेकर आ रहा था। आरोपी की गिरफ्तारी के बाद गांजा तस्करी में शामिल अन्य आरोपियों के सामने आऐंगे। थाना प्रभारी कन्हैया बघेल ने बताया कि गाड़ी में गांजा के पैकेट बरामद हुए है। तस्करों की तलाश की जा रही है। उनकी गिरफ्तारी के बाद पूरा नेटवर्क सामने आ जायेगा।

तीनों भाई मिलकर करते है गांजा तस्करी
गांजा तस्करी के मुख्य सरगना भोला जायसवाल के दो भाई भी बड़े कारोबारी है। अजय जायसवाल व दीपू जायसवाल का हाल ही में एक ट्रक गांजा रायपुर कर्चुलियान पुलिस ने पकड़ा था जिसमें 18 क्विंटल गांजा लोड था। इससे पूर्व अजय जायसवाल मनगवां पुलिस द्वारा पकड़े गए गांजा के मामले में भी फरार है। वर्तमान में इनका मुख्य कारोबार यूपी से संचालित होता है और वहीं से गांजा सप्लाई करते है।

Show More
Shivshankar pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned