घोटाले पर पर्दा डालने कार्यालय से गायब कर दी फाइल, आपरेटर ने कम्प्यूटर से हटाया डाटा

नईगढ़ी थाने में जेई की शिकायत पर दर्ज हुआ मामला, मचा हड़कंप

By: Shivshankar pandey

Published: 16 Jul 2020, 01:01 AM IST

रीवा। बिजली बिलों में धोखाधड़ी की शिकायतें थमने का नाम नहीं ले रही है। मंगलवार की शाम जेई के टेबिल से आरोपी सहित विभाग के कर्मचारियों ने घोटाले की फाइल गायब कर दी। इतना ही नहीं कम्प्यूटर आपरेटर ने पूरा डाटा डिलीट कर दिया। पूरा मामला सामने आने पर जेई ने थाने में शिकायत दर्ज कराई जिस पर सहायक अभियंता समेत चार के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

जेई कार्यालय से गायब की थी फाइल
नईगढ़ी विद्युत वितरण केन्द्र अन्तर्गत के उपभोक्ताओं के विद्युत बिल जमा करने में आरोपी शुभम उर्फ अखिलेश मिश्रा पिता प्रमोद मिश्रा निवासी मऊगंज द्वारा गड़बड़ी की गई थी। उपभोक्ताओं से बिल की राशि लेकर उसे खाते में जमा नहीं किया गया बल्कि आरोपी ने उसका बंदरबांट कर लिया। पूरा मामला सामने आने पर जेई वीरेन्द्र कुमार सुमन इस पूरे मामले की जांच कर रहे थे। जांच में 1.31 लाख रुपए की गड़बड़ी सामने आई थी। उन्होंने जांच रिपोर्ट तैयार कर मंगलवार को अपने आफिस के टेबिल में रखी थी। सांयकाल करीब चार बजे वे कुछ देर के लिए अपने आफिस से बाहर चले गए तभी आरोपी शुभम मिश्रा अपने पिता प्रमोद मिश्रा परिचालक व सहायक अभियंता मऊगंज सिद्धांथ श्रीवास्तव के साथ उनके आफिस पहुंचा और फाइल लेकर चला गया। उनके लौटते ही तीनों आरोपी जीप में सवार होकर चले गए। जेई ने तत्काल इसकी जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को दी।

रात में डाटा इंट्री आपरेटर ने डिलीट की फाइल
रात करीब साढ़े बारह बजे आरोपी कार्यालय के डाटा इंट्री आपरेटर विपिन मिश्रा के साथ आया और कम्प्यूटर में लोड फाइल को भी डिलीट कर दिया। दूसरे दिन जेई ने जब आपरेटर को फाइल की दूसरी प्रति निकालने को बोला तो उसने फाइल डिलीट होने की जानकारी दी। वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर नईगढ़ी थाने में शिकायत दर्ज कराई गई जिस पर पुलिस ने सहायक अभियंता मऊगंज सिद्धांथ श्रीवास्तव, परिचालक प्रमोद मिश्रा, कियोस्क सेंटर संचालक शुभम मिश्रा व डाटा इंट्री आपरेटर विपिन मिश्रा के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

परिचालक निलंबित, अब तक पांच मामले हो चुके है दर्ज
यइ पूरा मामला सामने आने के बाद कार्यपालन यंत्री ने परिचालक प्रमोद मिश्रा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर उन्हे त्योंथर मुख्यालय अटैच कर दिया है। अब तक बिलों में गड़बड़ी के चार मामले दर्ज हो चुके है। दो मामले मऊगंज व तीन मामले नईगढ़ी थाने में दर्ज है जिसमें बिल वसूलकर उसको जमा नहीं किया गया है।

Show More
Shivshankar pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned