कर्मचारियों ने 7वें वेतनमान का बनाया दबाव तो फफक पड़ीं कुलसचिव

कुलसचिव ने कुलपति से की शिकायत, एपीएसयू के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों पर आरोप, सातवें वेतनमान के संबंध में आदेश को लेकर जारी है गतिरोध

By: Vedmani Dwivedi

Updated: 10 Mar 2019, 01:22 PM IST

रीवा. अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय की कार्यवाहक कुलसचिव ने चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। कुलसचिव पुष्पा सोनवानी ने कहा कि, शुक्रवार की शाम प्रशासनिक भवन स्थित उनके कक्ष में बिना अनुमति के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी संघ के पदाधिकारी आए। वे सातवें वेतनमान के संबंध में आदेश करने का दबाव बनाने लगे। इस दौरान पदाधिकारियों ने कक्ष में उनसे तेज आवाज में बात की। आरोप लगाया कि उनके कक्ष में भीड़ एकत्रित कर अशांति फैलाई गई।

कुलसचिव ने इस संबंध में कुलपति प्रो.केएन सिंह यादव से शिकायत भी की है। उल्लेखनीय है कि एपीएसयू चुतुर्थ श्रेणी कर्मचारी पिछले कई महीनों से प्रदर्शन कर रहे हैं। उनकी मांग पर ही पिछले दिनों कार्यपरिषद में प्रस्ताव पारित कर कुलसचिव को नियमानुसार कार्रवाई के लिए कहा गया है। लेकिन कुलसचिव निर्णय को लेकर असमंजस में हैं। उनकी सफाई है कि इस मामले में एक तत्कालीन कुलसचिव पर कार्रवाई की गई है ऐसे में वह इस संबंध में कोई आदेश नहीं करेंगी। कहा, पिछले 24 वर्ष में कुछ नहीं हुआ तो आज मै कैसे कर दूं?।

यह है पूरा मामला
एपीएसयू चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी संघ अपनी मांगों को पूरा करने के लिए हर तरीके अपना रहा है। कर्मचारियों के मंसूबे का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उन्होंने करीब एक महीने तक लगातार कुलपति को ज्ञापन सौंपा है। कर्मचारियों के दबाव में आकर ही सातवें वेतनमान के मुद्दे को कार्यपरिषद में शामिल किया गया। वहां से कोई स्पष्ट निर्णय न करते हुए कुलसचिव के पाले में गेंद डाल दी गई। कुलपति ने तो कार्यपरिषद के माध्यम से छुटकारा पा लिया लेकिन अब कर्मचारी कुलसचिव पर दबाव बनाने लगे। कार्यपरिषद ने 18 फरवरी को निर्णय दिया है। कार्यपरिषद ने मांगों को लेकर कुलसचिव को नियमानुसार कार्यवाही करने कहा गया है।

पुराने मामले को लेकर कुलसचिव असमंजस में
कर्मचारियों के भुगतान संबंधी एक पुराने मामले में तत्कालीन कुलसचिव के खिलाफ जांच चल रही है। उन पर कार्यवाही भी हुई थी। बताया जा रहा है कि उसी मामले को देखते हुए कार्यवाहक कुलसचिव पुष्पा सोनवानी असमंजस में हैं। जिसकी वजह से कर्मचारियों के सातवें वेतनमान के भुगतान संबंधी मामले को लटकाए हुए हैं। वैसे भी सोनवानी कार्यवाहक कुलसचिव के रूप में कार्य कर रही हैं। ऐसे में वे इस प्रकार का कोई भी झंझट मोल लेना नहीं चाह रही हैं।

....
चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी संघ के कई पदाधिकारी हमारे कक्ष में आए और तेज आवाज में बात करते लगे। अशांति फैलाई। बताइए जो पिछले 24 वर्षों में नहीं हुआ वो आज मैं कैसे कर दूं। इस संबंध में कुलपति को भी बता दिया गया है।
पुष्पा सोनवानी, कार्यवाहक कुलसचिव

कार्यपरिषद के निर्णय के मुताबिक ही हम अमल चाहते हैं। तीन बार कमेटी बैठी। इसके बाद भी कोई निर्णय नहीं हो रहा है। हम केवल कार्यपरिषद के निर्णय के अनुसार कार्रवाई चाहते हैं। कुलसचिव द्वारा लगाए गए आरोप निराधार हैं।
बुद्धसेन पटेल, अध्यक्ष कर्मचारी संघ

Vedmani Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned