एंटी माफिया अभियान: प्रशासन ने डेढ़ एकड़ सरकारी भूमि पर ढहाया अतिक्रमण, खाली कराया 10 करोड़ की जमीन

कलेक्ट्रेट से लेकर हुजूर तहसील में राजस्व अफसरों का चला मंथन, अपर कलेक्टर ने अधिकारियों को कहा-सूचना देकर २४ घंटे के भीतर ढहाओ अतिक्रमण

 

 

By: Rajesh Patel

Published: 03 Jan 2020, 12:12 PM IST

Administration demolishes one and a half acres of government land
patrika IMAGE CREDIT: patrika

रीवा. प्रदेश सरकार के एंटी माफिया अभियान के तहत हुजूर तहसील क्षेत्र में डेढ़ एकड़ सरकारी भूमि पर प्रशासन ने अवैध अतिक्रमण ढहा दिया। अतिक्रमण हटाए जाने की कार्रवाई के दौरान तमाम विरोध के बावजूद प्रशासन की कार्रवाई देररात तक जारी रही। एंटी माफिया अभियान की नोडल अधिकारी एवं अपर कलेक्टर इला तिवारी का दावा है कि करीब डेढ़ एकड़ सरकारी जमीन पर लंबे समय से दुकानें, मकान बनाकर अतिक्रमण कर रखा था। अभियान के दौरान अतिक्रमण को शांतिपूर्ण ढहा दिया गया। करीब 10 करोड़ रुपए कीमत की सरकारी जमीन खाली कराई गई है।

तालाब की भूमि पर 40 अतिक्रमण

कलेक्टर के निर्देश पर हुजूर तहसील के गोविंदगढ़ सर्किल के नायब तहसीलदार निवेदिता त्रिपाठी की अगुवाई में बड़ी संख्या में पुलिस बल जेसीबी मशीन लेकर गोविंदगढ़ नगर परिषद एरिया में स्थित पिपरहवा चौराहे पर पहुंचा। तालाब की सरकारी भूमि पर हाइवे की छोर पर आधा सैकड़ा से ज्यादा अतिक्रमण है। अमले ने अतिक्रमण हटाने के लिए बुल्डोजर का उपयोग किया। देरशाम तक सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाए जाने की कार्रवाई चली। इस दौरान कई दुकानदारों ने विरोध किया।

कइयो की सामग्री हटाने तक नहीं मिला मौका
कइयो को सामग्री हटाने तक का मौका नहीं मिला। गोविंदगढ़ में 40 से अधिक अतिक्रमण हटाया गया। इस दौरान दो दर्जन से ज्यादा मकान व दुकानें जमीदोज हो गईं। एसडीएम हुजूर फरहीन खान ने बताया कि फौरीतौर पर शाम चार बजे तक एक एकड़ से अधिक एरिया का अतिक्रमण शांतपूर्ण हटाया जा चुका था। देरररात तक कार्रवाई जारी रही। इस दौरान एसआई रितुका शुक्ला, सीएमओ सुषमा मिश्रा सहित बड़ी संख्या में क्षेत्रीय अधिकारी मौजदू रहे।

दस साल से तालाब की भूमि पर अतिक्रमण कर बना लिया था दुकानें
नगर पंचायत गोविंदगढ़ के ऐतिहासिक तालाब की भूमि पर करीब दस साल से स्थानीय लोगों ने सडक़ की छोर में अलग-अलग जगहों पर अतिक्रमणकर मछली का कारोबार कर रहे थे। इसके अलावा कइयो ने पक्का निर्माण कराकर होटल संचालित कर रहे थे। कई रसूखदार भी जमीन कब्जाकर किराए पर दुकान उठा दिया था। जिसे प्रशासन ने पहले चिह्ंित किया। नोटिस भेजा। इसके बाद भी जमीन खाली नहीं होने पर मशीन से ढहा दिया।

बुल्डोजर चलते ही मची चीख-पुकार
गोविंदगढ़ में सरकारी जमीन पर अतिक्रमण हटाए जाने के दौरान घरों पर बुल्डोजर चलते ही अतिक्रमणकारी अफसरों से गिड़गिड़ाते रहे। लेकिन, किसी ने एक नहीं सुनी। इस दौरान सडक़ के दोनों छोर पर करीब 200 मीटर से अधिक एरिया में जगह-जगह दुकानें बनाई गई थी। जहां से अतिक्रमण ढहा दिया गया।

Show More
Rajesh Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned