प्रशासन ने पांच हजार किसानों को बांटे टोकन, दो दिन के लिए तौल की छूट

दो दिन से केन्द्रों से लेकर कलेक्टर कार्यालय तक चला मंथन

रीवा. जिले में समर्थन मूल्य पर तौल बंद होने की सूचना के बाद दूसरे दिन बुधवार को भी दोपहर तक केन्द्रों के सामने धरना-प्रदर्शन जारी है। विरोध के बाद जागे जिम्मेदारों ने केन्द्रों पर खड़े पांच हजार किसानों को टोकन बांट दिया है। टोकन वाले किसानों की तौल के लिए दो दिन का समय जिला प्रशासन स्तर पर दिया गया है। उधर, कलेक्टर के प्रस्ताव पर 25 जनवरी की तिथि पर अभी तक सरकार ने कोई निर्णय नहीं लिया है।

जिले में पिछले कई दिनों से खरीद केन्द्रों पर सात हजार से अधिक किसान दो लाख क्विंटल से ज्यादा धान लेकर तौल के लिए इंतजार कर रहे थे। मंगलवार को तौल बंद होने की सूचना पर जिले में किसानों ने स्थानीय नेताओं के साथ प्रदर्शन शुरू कर दिया। केन्द्रों के गेट पर किसान बैठ गए। हनुमना में विधायक प्रदीप पटेल तीन दिन से सहकारी समितियों और केन्द्र प्रभारियों के खिलाफ किसानों की समस्याओं को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं।

त्योंथर में भी भाजपा विधायक धरने पर बैठे रहे। इसके अलावा हुजूर तहसील में भी कइयो केन्द्र पर किसान दोपहर तक प्रदर्शन किए। जिला प्रशासन ने आनन फानन में केन्द्रों पर धरने पर बैठे किसानों को टोकन बंटवा दिया है। टोकन पाने वाले किसानों की उपज की तौल के लिए दो दिन की मोहलत दी गई है। बताया गया कि जिला प्रशासन के लिस्ट में पांच हजार टोकन बांटने के बाद १२७४ किसान शेष है। शासन के वीडियो कान्फेंस के दौरान जिला नियंत्रक ने रीवा जिले की हालत से रुबरू कराया है। जिला नियंत्रक ने केन्द्रों की स्थिति की जानकारी कलेक्टर और शासन को भी दिया है। बताया गया कि शासन स्तर पर अभी तक तौल की तिथि बढ़ाने का निर्णय नहीं लिया गया है।

मंत्री से भी सिफारिश
किसानों के केन्द्रों पर तौल को लेकर स्थानीय कांग्रेस नेता और किसान नेता कमलेश पटेल ने पंचायत मंत्री कमलेश्वर पटेल से तौल की तिथि बढ़ाने जाने की सिफारिश की है। मंत्री ने शासन स्तर पर बात कर तिथि बढ़ाए जाने का आश्वासन दिया है।

Manoj singh Chouhan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned