सरकार ने किसानों के खाते में भेजा 51 करोड़ की प्रोत्साहन राशि, इस योजना में आप को भी मिल सकता है लाभ

सरकार ने किसानों के खाते में भेजा 51 करोड़ की प्रोत्साहन राशि, इस योजना में आप को भी मिल सकता है लाभ

Rajesh Patel | Publish: Apr, 17 2018 12:40:04 PM (IST) Rewa, Madhya Pradesh, India

कृषक समृद्धि योजना के तहत 50 हजार किसानों को 51 करोड़ रुपए की प्रोत्साहन राशि वितरति

रीवा. किसानों को उनकी उपज का अधिकतम मूल्य मिले, इस उद्देश्य को लेकर सरकार द्वारा मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना लागू की गई है। इस योजना के तहत गत वर्ष समर्थन मूल्य पर गेंहू तथा इस वर्ष धान उपार्जित करने वाले किसानों को प्रोत्साहन राशि वितरित की गई। ये बाते करहिया मंडी में आयोजित किसान सम्मेलन के मुख्य अतिथि उद्योग मंत्री राजेन्द्र शुक्ल ने कही। समारोह में मंत्री ने रीवा जिले के 50 हजार से अधिक किसानों को 51 करोड़ रुपए की प्रोत्साहन राशि वितरित की। समारोह में अधिक उपार्जन करने वाले किसानों को सम्मानित किया गया। समारोह की अध्यक्षता सांसद जनार्दन मिश्र ने की।
हर किसानों को मिलेगी 200 रुपए प्रति क्विंटल
समारोह में उद्योग मंत्री ने कहा कि किसान मजबूत और समृद्ध होगा तभी मध्यप्रदेश का विकास होगा। मुख्यमंत्री ने किसानों के लिए कई लाभकारी योजनाएं लागू की हैं। इनसे खेती की लागत घटी है तथा किसान को उपज का अच्छा दाम मिल रहा है। उन्होंने कहा कि रीवा जिले के 50 हजार से अधिक किसानों को 51 करोड़ रुपए से अधिक की प्रोत्साहन राशि वितरित की जा रही है। कभी किसी किसान ने यह कल्पना भी नहीं की होगी कि पिछले साल उपार्जित गेंहू में इस साल 200 रुपए प्रति क्विंटल की राशि मिलेगी।
पांच लाख एकड़ तक बढ़ाया जाएगा सिंचाई का रकवा
मंत्री ने कहा कि बाणसागर से ढाई लाख एकड़ क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिली है। इसे पांच लाख एकड़ तक बढ़ाया जाएगा। समारोह में सांसद जनार्दन मिश्र ने कहा कि विंध्य क्षेत्र में कम वर्षा के बावजूद गत वर्ष की तुलना में अधिक धान का उत्पादन हुआ है। सरकार द्वारा पर्याप्त बिजली तथा सिंचाई की सुविधा देने से यह चमत्कार हुआ है। प्राकृतिक आपदा में फसलों को हानि होने पर फसल बीमा का लाभ दिया जाता है।
किसानों को दी गई भंडारण की जानकारी
किसान सम्मेलन में कृषि विज्ञान केन्द्र तथा कृषि महाविद्यालय के वैज्ञानिकों ने उन्नत खेती, कीट प्रबंधन, जैविक खेती, अनाज के भंडारण की जानकारी दी। सम्मेलन में कृषि, उद्यानिकी, पशु पालन, तथा मछली पालन विभाग की योजनाओं की भी जानकारी दी गई। सम्मेलन में कलेक्टर प्रीति मैथिल, मंडी अध्यक्ष छोटेलाल कोल, अध्यक्ष कृषि समिति लल्लू प्रसाद कुशवाहा, राजकिशोर तिवारी, सुभाष पांडेय तथा बड़ी संख्या में किसान उपस्थित रहे।
प्रोजेक्टर पर सुनाए मुख्यमंत्री के भाषण
करहिया मंडी में आयोजित कार्यक्रम के दौरान प्रदेश स्तरीय सम्मेलन शाजापुर से सीधे किसानों को प्रोजेक्टर के जरिए मुख्य मंत्री का भाषण सुनाया गया।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned