Build up india : पशुपालन विभाग 175 हितग्राहियों को कराएगा मुर्गी पालन, प्रवासियों को मिलेगा रोजगार

जिले में आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत पशु चिकित्सा एवं पालन विभाग उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए नावार्ड के सहयोग से शुरू की योजना

By: Rajesh Patel

Updated: 29 Jun 2020, 11:36 AM IST

रीवा. जिले में पशु पालन विभाग मुर्गी पालन के लिए 175 हितग्राहियों को यूनिट खोलने का लक्ष्य रखा है। जिसमें इच्छुक प्रवासियों को भी रोजगार दिया जाएगा। मुर्गी पालन के साथ ही लघु डेयरी खोलने के लिए ब्लू प्रिंट तैयार कर लिया है। पशु पालन विभाग ने यह भी स्पष्ट किया है कि मुर्गियों में कोरोना फैलने की बात निराधार है।

नावार्ड करेगा मुर्गी पालन में मदद
जिले में आत्मनिर्भर भारत अभियान अंतर्गत पशुपालन के क्षेत्र में उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिये नावार्ड द्वारा वित्त पोषित राष्ट्रीय पशुधन मिशन के उद्यमिता विकास एवं रोजगार सृजन के तहत योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है। इस योजना के तहत समस्त बैंक ऋण आधारित है। जिसमें सामान्य तथा पिछड़ावर्ग के लिए 25 प्रतिशत एवं अनुसूचित जाति और अनुसूचित जन जाति के लिए 33 प्रतिशत अनुदान का प्रावधान है। बैंक द्वारा ऋण स्वीकृति के बाद नाबार्ड से सीधे ऑनलाइन अनुदान दिया जाएगा।

मुर्गी, बकरी समेत इन योजना को भी ऋण
इस संबंध में उप संचालक पशुपालन डॉ. राजेश मिश्रा ने बताया कि इस योजना के तहत मुर्गी पालन, बकरी पालन इकाई एवं सूकर पालन इकाई के ऋण प्रकरण तैयार किए जा सकते हैं। योजना की अधिक जानकारी एवं आवेदन प्रारूप विकासखण्ड के पशु चिकित्सा विस्तार अधिकारी अथवा उप संचालक कार्यालय पशुपालन विभाग से प्राप्त किया जा सकता है।

पूरी तरह सुरक्षित कुक्कुट उत्पादों का सेवन
पशुपालन विभाग ने स्पष्ट किया है कि मुर्गियों से कोरोना फैलने की बात निराधार और तथ्यों से परे है। स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के आधार पर स्पष्ट किया गया है कि कुक्कुट उत्पादों से किसी भी प्रकार से कोरोना फैलने की खबर पूरी तरह भ्रामक और आधारहीन है तथा कुक्कुट उत्पादों का सेवन पूरी तरह से सुरक्षित है।

सचिवों को पत्र भेजा
पशुपालन विभाग के संचालक डॉ आरके रोकड़े ने बताया कि भारत सरकार के पशुपालन एवं डेयरी मंत्रालय ने भी सभी राज्यों के सचिवों को पत्र के जरिये सूचित किया है कि मुर्गी पालन से मनुष्यों में कोरोना का संक्रमण नहीं होता तथा वर्तमान में इनका सेवन न केवल सुरक्षित है बल्कि यह प्रोटीन से भरपूर सस्ता खाद्य पदार्थ है जो मनुष्यों में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

Show More
Rajesh Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned